कुशीनगर से मुम्बई तक रेप, पुलिस बनी बेशर्म

7603kushinagarrape2370x250लेकिन पीड़िता के किस्मत में अभी ठोकरें खानी बाकी थीं। ट्रेन में सलमान खान नाम का युवक मिला जिसने उससे सहानुभूति दिखाई। एक बार फिर वह इस झूठी हमदर्दी के झांसे में आ गई। सलमान ने उसे एक बार फिर वापस लौटने पर बदनामी और मां बाप की मार का डर दिखाया और मुंबई वापस ले गया। यहां अब सलमान ने उसका यौन उत्‍पीड़न करना शुरू कर दिया। साथ ही अपने दोस्त राकेश के सामने भी उसे परोस दिया।

गोरखपुर/कुशीनगर, (डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क) ।। यूपी के कुशीनगर में एक युवती के साथ दरिंदगी का बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है। इस युवती के साथ बीते चार महीने में 25 बार बलात्‍कार हुआ। बताया जा रहा है कि जिस किसी शख्‍स ने भी इस युवती की ओर मदद को हाथ बढ़ाया, उसी ने इसे अपनी हवस का शिकार बना डाला। पिछले चार महीने में युवती के पिता ने इसे ढूढंने की तमाम कोशिशें कीं, लेकिन पुलिस-प्रशासन ने उनकी एक न सुनी।

आखिरकार एक दिन एक अजनबी ने युवती के पिता को फोन करके उसके जिंदा होने की खबर दी। फिर सामने आई एक दिल दहला देने वाली कहानी । ऐसी कहानी जो सीधे-सीधे इंसानी रिश्तों, विश्वास और देश के कानून पर सवाल उठा रही है।

दिल्ली के बहुचर्चित दामिनी कांड के बाद यह घटना भले ही झकझोर देने वाली है लेकिन ख़बरें और खुलासे तो केवल शहरों तक ही सीमित रहते हैं। फिर भी सवाल है कि क्या वाकई सिर्फ कड़े कानून ही महिलाओं पर हो रहे अत्याचार और यौन अपराधों को रोक सकते हैं। यदि नहीं तो क्या समाज को अपनी मानसिकता बदलने की जरूरत है।

मामला कुशीनगर जिले के हाटा थानाक्षेत्र के बतरौली इलाके की है। बीते 22 जून को 18 साल की एक युवती अपने पिता के कहने पर खेतों में गोबर की खाद फेंकने गई थी। खेत नेशनल हाइवे-28 से लगा हुआ था। लड़की जैसे ही में खेत पहुंची, वहां जीतेन्द्र और बल्लू साहनी नाम के दो युवक इस युवती को उठाकर अपने साथ ले गए। इन दोनों ने युवती के साथ बलात्कार किया। फिर देर शाम उसे वापस गांव के पास छोड़ दिया।

रेप के बाद जब युवकों ने पीडिता को उसके गांव के पास छोड़ दिया तो वह अपने घर ना जाकर पड़ोस के गांव में रहने वाली दोस्त के पास चली गई। वहां उसने अपनी सहेली को पूरी घटना बताई। जब वह अपनी सहेली से अपना दर्द बयां कर रही थी तो सहेली के चाचा ने पूरी घटना सुन ली। सुबह जब वह घर जाने वाली थी तो सहेली के चाचा ने घरवालों का खौफ दिखाया और अपने घर पर ही रोक लिया। इसके बाद शुरू हुआ मदद के नाम पर शारीरिक शोषण का खेल। चाचा ने कुछ दिनों मनमानी की और फिर एक दिन उसे अपने साथ गोरखपुर ले गया। वहां पहले होटल में उसके साथ बलात्कार किया, फिर दूसरों के आगे परोस दिया। 3-4 दिनों तक उसके साथ दरिंदों की मनमानी चलती रही। इसके बाद उसकी सहेली का चाचा उसे अहमद नामक एक शख्‍स के पास छोड़कर फरार हो गया।

यहां से शुरू हुई पीड़िता के दर-दर भटकने की कहानी। अहमद उसे मुंबई लेकर गया और वहां उसके साथ मनमानी करता रहा। जब मन भर गया तो उसने एक दिन गोरखपुर जाने वाली ट्रेन पर बैठा दिया। लेकिन पीड़िता के किस्मत में अभी ठोकरें खानी लिखीं थीं। ट्रेन में सलमान खान नाम का युवक मिला जिसने उससे सहानुभूति दिखाई। एक बार फिर वह इस झूठी हमदर्दी के झांसे में आ गई। सलमान ने उसे एक बार फिर वापस लौटने पर बदनामी और मां बाप की मार का डर दिखाया और मुंबई वापस ले गया। यहां अब सलमान ने उसका यौन उत्‍पीड़न करना शुरू कर दिया। साथ ही अपने दोस्त राकेश के सामने भी उसे परोस दिया।

मुंबई में वह युवती जहां रह रही थी, वहीं पड़ोस की एक महिला ने उससे उसके बारे में पूछा। डरते-डरते उसने अपनी कहानी उसे बताई। उस पड़ोसी महिला ने उससे घर का नंबर लेकर कुशीनगर फ़ोन किया। इसके बाद उसके पिता ने मुंबई में रह रहे अपने रिश्तेदारों को फ़ोन करके अपनी बेटी के मुंबई में होने की जानकारी दी। रिश्तेदारों ने पहुंचकर युवती को सलमान के चंगुल से छुड़ाया और कुशीनगर वापस लेकर आए। पीड़िता ने कुशीनगर पहुंचने पर बताया कि इन चार महीनों में 6 लोगों ने उसके साथ 25 बार बलात्कार किया।

इस बीच पुलिस प्रशासन की भी भूमिका संदेह के घेरे में रही। पीड़िता के पिता ने बताया कि पिछले चार महीने से वह जिले और मंडल के सभी बड़े पुलिस अधिकारियों से मिल चुके हैं। लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। लड़की का पता चलने के बाद भी कुशीनगर पुलिस उसके साथ मुंबई नहीं गई। अब युवती के वापस आ जाने के बाद पुलिस ने फुर्ती दिखानी शुरू कर दी है। एएसपी एसपी द्विवेदी ने बताया कि युवती को मेडिकल के लिए भेजा रहा है। उसका बयान दर्ज कर दोषियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जाएंगे।  (कुछ अंश दै.भा से)

loading...
Pin It