Breaking News

गिरिराज के विवादित बोल- हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए हो दो बच्चों का कानून,

विश्‍व जनसंख्‍या दिवस (World Population Day) के अवसर पर केंद्रीय मंत्री व बिहार के बेगूसराय से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद गिरिरज सिंह (Giriraj Singh) ने विवादित बयान दिया है। उन्‍होंने कहा है कि देश में हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए और जो इस नियम को नहीं माने उसका वोटिंग का अधिकार (Right to vote) खत्‍म कर देना चाहिए। उन्‍होंने ओवैसी (Owaisi) जैसे लोगों को सामाजिक समरसता में बाधक बताया।

गिरिराज सिंह ने इसके पहले ट्वीट कर यह भी कहा कि जनसंख्या नियंत्रण में अड़चन का एक कारण धार्मिक व्यवधान भी है। हिंदुस्तान 1947 की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है।

जनसंख्या नियंत्रण के लिए बने सख्‍त कानून

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर गिरिराज सिंह ने कहा कि जनसंख्या भारत के लिए बड़ी चेतावनी है और इससे संसाधन और सामाजिक समरसता को खतरा पैदा हो गया है। जनसंख्या नियंत्रण के लिए सख्‍त कानून की जरूरत है। इसके लिए सड़क से संसद तक प्रयास जरूरी हैं।
गिरिराज सिंह ले कहा कि वोट के ठेकेदारों ने जनसंख्या को धर्म से जोड़ दिया है। जनसंख्‍या नियंत्रण को इस्लामिक देश स्वीकार कर रहे हैं, लेकिन भारत में इसे धर्म से जोड़ा जाता है।

सामाजिक समरस्ता में बाधक ओवैसी जैसे लोग

गिरिराज सिंह ने कहा कि जहां-जहां हिंदूओं की जनसंख्या गिरती है, वहां-वहां सामाजिक समरसता टूटती है। देश में कुछ लोग अपने लाभ के लिए समाज में विषमता फैलाते हैं। ओवैसी जैसे लोग सामाजिक समरस्ता में सबसे बड़े बाधक हैं।बयान से पहले किया ये ट्वीट
विवादित बयान के पहले गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा कि जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है। जनसंख्या नियंत्रण में अड़चन का एक कारण धार्मिक व्यवधान भी है। देश 1947 की तरह सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है। उन्‍होंने आगे लिखा कि सभी राजनीतिक दलों को जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए आगे आना होगा।

विवादित बयानों के लिए जाने जाते गिरिराज

विदित हे कि गिरिराज सिंह अपने बयानों की वजह से विवाद में रहते आए हैं। जनसंख्या नियंत्रण को लेकर समुदाय विशेष को लक्ष्‍य कर वे हमेशा बयान देते रहे हैं। ताज बयान इसी की कड़ी है।

loading...