चुनाव में मुख्तार को मुन्ना बजरंगी का साथ

370x250लखनऊ।।डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।। मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी आपसी बैर भुलाकर फिर एक दूसरे के सहयोग के लिए तैयार हो रहे हैं। पटकथा केजीएमयू में लिखी गई है अब केवल लोकसभा चुनाव में फिल्म की शूटिंग बाकी है। यह पटकथा मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी की बीते 03 फरवरी को इलाज के बहाने केजीएमयू में करीब आधे घंटे तक चली मुलाकात के दौरान ही लिखी गई। ख़बर यह भी है कि दोनों की मुलाकात करवाने के पीछे एसपीएम विभाग के एक टीचर की भूमिका भी सामने आई है और यह मुलाकात केजीएमयू के सीएमएस एसएन शंखवार के कमरे में ही करवाई गई है। दोनों माफिया के एक साथ लॉरी हार्ट सेंटर में भर्ती होने के बाद मामले की उच्चस्तरीय जांच में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। इस पर यकीन करें तो यह मुलाकात सीएमएस एसएन शंखवार के कमरे में हुई। इससे भी ज्यादा हैरत की बात यह है कि इस दौरान वहां लगा सीसीटीवी कैमरा भी काम नहीं कर रहा था। जांच टीम इस बिंदु पर भी पड़ताल कर रही है कि सीसीटीवी कैमरा कहीं बाहुबलियों की मुलाकात के सबूत मिटाने के लिए तो खराब नहीं कर दिया गया।

उच्चस्तरीय जांच कमिटी ने मुलाकात को गंभीर मानते हुए केजीएमयू अधिकारियों से सीसीटीवी फुटेज मांगी, लेकिन यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कैमरा खराब होने की बात कही। सूत्रों की मानें तो अधिकारी सीसीटीवी कैमरा खराब होने की बात कह रहे हैं। जांच कमिटी ने अपनी रिपोर्ट में इसका जिक्र भी किया है। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों माफिया एक साथ लॉरी हार्ट सेंटर में भर्ती हुए। इसके बाद जांच का हवाला देते हुए उन्हें केजीएमयू के कई विभागों में ले जाया गया। इसी बीच यूरोलॉजी में दोनों की मुलाकात हुई। जिस समय दोनों की मुलाकात हुई सीएमएस दिल्ली में थे।

जिस दिन दोनों माफिया लॉरी हार्ट सेंटर में भर्ती हुए, उसी दिन सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव भी अपने एक करीबी को देखने वहां पहुंचे थे। उस दिन लॉरी के बाहर कई अपराधी दोनों से मिलने पहुंचे थे। सपा सुप्रीमो के आने के बाद अपराधी तो भाग खड़े हुए, लेकिन मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दे दिए गए थे। जांच शुरू हुई तो अब मामले में केजीएमयू के एक शिक्षक की भूमिका भी सवालों के घेरे में आ गई है।

मैं उस दिन दिल्ली में था। मेरा इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है। मुझसे अभी पूछताछ भी नहीं हुई है। अगर मुझसे किसी मसले पर जवाब मांगा जाएगा तो मैं हर तरह से सहयोग को तैयार हूं।

एसएन शंखवार, सीएमएस, केजीएमयू

(कुछ इनपुट एनबीटी से)

 

loading...
Pin It