Breaking News

डॉक्टर दंपति और बेटी-दामाद हत्याकांड में बड़ा खुलासा, हत्या की गुत्थी सुलझाने के करीब पुलिस

 सेक्टर 7A में चार लोगों की हत्या मामले में पुलिस के हाथ अहम सुराग हाथ लगे हैं। हत्याकांड में डबुआ कॉलोनी में जिम चलाने वाले युवक का नाम आ रहा है। युवक का नाम मुकेश बताया जा रहा है। आरोपित सेक्टर 7A में जिम में ट्रेनेर बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि सुबह उसके भाई ने एक लेटर डबुआ पुलिस को सौंपा। जिसमें आरोपित ने ख़ुद अपना गुनाह क़बूल किया है। डबुआ में रहने वाला आरोपित फिलहाल फरार है।

पुलिस को मिले अहम सुराग

सेक्टर-7ए में मेहंदीरत्ता दंपती व उनके बेटी-दामाद की हत्या मामले में क्राइम सीन की गहनता से जांच के बाद पुलिस को कई अहम बिंदु मिले हैं। घर में किसी की जबरन एंट्री या लूटपाट के सबूत न मिलने से पुलिस का निष्कर्ष है कि किसी बेहद नजदीकी व्यक्ति ने रंजिश में हत्या को अंजाम दिया है।

पड़ोसी सतीश गर्ग के घर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज व क्राइम सीन के मिलान से पता चलता है कि हमलावर ने पहले मेहंदीरत्ता दंपती की हत्या की, इसके बाद करीब पौना घंटा घर में बैठकर उनके बेटी व दामाद के आने का इंतजार किया। उनकी हत्या के करीब आधे घंटे बाद वह फरार हुआ। सीसीटीवी कैमरे की दूरी व अंधेरे के कारण न स्कूटी सवार का चेहरा दिखा, ना स्कूटी का नंबर या रंग।

पहले से पता था कि बेटी व दामाद आने वाले हैं

पुलिस का अनुमान है कि हमलावर को मालूम था कि मेहंदीरत्ता दंपती के बेटी व दामाद आने वाले हैं। सीसीटीवी फुटेज में स्कूटी सवार रात करीब 10.30 बजे मेहंदीरत्ता दंपती के घर के बाहर पहुंचा। स्कूटी बाहर खड़ी कर वह घर के अंदर चला गया। करीब 11.15 बजे मेहंदीरत्ता दंपती के बेटी व दामाद घर के अंदर जाते दिखे। करीब 11.45 बजे स्कूटी सवार घर के बाहर जाता दिखा।

सभी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई

पुलिस को प्रवीन मेहंदीरत्ता का शव बेसमेंट में बनी लैब में कुर्सी पर पड़ा मिला, उनकी पत्नी भारती का शव बेडरूम में पड़ा मिला। सभी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई है, शरीर पर चाकू घोपे जाने के भी निशान हैं। बेसमेंट में एक्सरे मशीन चालू मिली है। यह मशीन तभी चालू की जाती है जब किसी का एक्सरे करना हो। वैसे भी प्रवीन रात के 10.30 बजे किसी जानकार का ही एक्सरे कर सकते हैं, अन्य को वे सुबह आने को बोल देते।

पुलिस का निष्कर्ष है कि 10.30 बजे आया हमलावर एक्सरे कराने के बहाने प्रवीण मेहंदीरत्ता को बेसमेंट में लेकर गया। जैसे ही प्रवीण ने मशीन चालू की, उसने उनका गला रेत दिया। इसके बाद ऊपर आकर बेडरूम में भारती की हत्या की। इसके बाद रात 11.15 बजे पहले बेटी प्रियंका अंदर आई, दामाद सौरभ कटारिया कार खड़ी करने लगा। उसने गेट पर ही प्रियंका की हत्या कर दी। इसके बाद जैसे ही सौरभ कटारिया अंदर आए, उसने उनकी भी हत्या कर दी।