डॉक्टर से इन सात बातों को कभी नहीं छिपाना चाहिए

kkलखनऊ।। सेहत के लिए डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है। यह दर्जा ऐसे ही नहीं है। वास्तव में डॉक्टरों ने कई बार इसे साबित भी किया है। इसके लिए मरीजों और उनके तिमारदारों को भी कुछ एहतियात बरतनी चाहिए। इससे न केवल डॉक्टर को मरीज की बीमारी के बारे में समझने में आसानी होती है, बल्कि वह उन दवाओं के बारे में भी विचार कर पाता है, जो जीवन के लिए खतरनाक हो सकती हैं। यानी इससे मरीज की जान भी जा सकती है।

नंबर-एक

ठंडक में भी क्या आपको आता है पसीना। यदि ऐसा है कि कंपकपाती ठंड में भी आपको पसीना आता है। माथे पर गर्मी छिटक जाती है, तो इस बात को डॉक्टर से कभी न छिपाएं। यह हाइपर टेंशन से लेकर थायरायड की गड़बड़ी हो सकती है। इसे डॉक्टर को जरूर बताएं।

नंबर-दो

शरीर में यदि हल्कापन महसूस होता है। यानी पैर और हाथ सुन्न रहता है तो इसे डॉक्टर को जरूर बताए।

नंबर-तीन

इसके पहले आपको किस दवा से एलर्जी हुई थी, उससे क्या-क्या परेशानी हुई थी इसकी जानकारी भी डॉक्टर को दें।

नंबर-चार

यदि आपको कोई सेक्सुअल परेशानी है, तो इसे छुपाकर आप डॉक्टर को अंधेरे में रख ही रहे हैं, साथ ही इससे मिलने वाली गलत दवा आपको मौत के मुंह में डाल सकती है।

नंबर-पांच

शराब और सिगरेट के बारे में अकसर लोग डॉक्टर से झूठ बोलते हैं। यह मरीज के लिए अधिक हानिकारक हो सकता है।

नंबर-छह

डॉक्टर को अपने रूटीन या दिनचर्या के बारे में जरूरी बताएं। इससे भी डॉक्टर को सही दवा लिखने में काफी आसानी होगी।

नंबर-सात

आप आपने पहले की दवाओं और बीमारियों को भी डॉक्टर को बताएं। भले ही वो दवाएं बद हो गई हों।

loading...
Pin It