Breaking News

महिला कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर का उद्धाटन

resizedimageलखनऊ।। (डीडीसी)।। कैंसर एक जानलेवा बीमारी है लेकिन जागरूकता से इससे बचा भी जा सकता है। प्रदेश को कैंसर मुक्त बनाने के लिए यूपी सरकार हर संभव कोशिशों में जुटी है। स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल में महिला कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर का उद्धाटन कर लोगों को जागरूक होने को कहा। महिलाओं और लड़कियों में होने वाले कैंसर को लेकर यूपी सरकार गंभीर है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पहले ही राममनोहर लोहिया अस्पताल को ऐसे मामलों के लिए रिफरल सेंटर दर्जा दे चुके हैं लेकिन सरकार अब बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर लोगों को जागरुक करना चाहती है। केंद्र सरकार के एक आकड़े के अनुसार देश की 11 लाख महिलाएं स्तन, गर्भाशय के कैंसर से संक्रमित होती हैं जिनमें से करीब 5 लाख महिलाओं की मौत हो जाती है। यूपी सरकार का दावा है कि हर जिले को राज्यों प्रदेश मुख्यालय से जोड़ा जाएगा। जिससे मरीजों का आसानी से इलाज किया जा सके। स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने महिला कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर का उद्धाटन कर स्थानीय स्तर पर कैंप लगाने को जरूरी बताया।

यूपी सरकार का दवा है कि पीएचसी, सीएचसी ही नहीं स्टेट रिफेरल सेंटर पर कभी भी मरीजों की जांच हो सकती है इसके लिए बजट की कभी भी कमी नहीं होने दी जाएगी। महिलाओं में बढ़ रहे कैंसर के मामलों को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने जनता के बीच लोगों के जाने और जागरूक करने पर बल दिया। स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि स्क्रीनिंग के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना जरूरी है। कैंसर रोकथाम में को लेकर काम कर रही कुछ एनजीओ की भी स्वास्थ्य मंत्री ने तारीफ करने के साथ ही सम्मानित भी किया।

डाक्टरों और अफसरों को चेतावनी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने पूर्ववर्ती सरकार का हवाला दिया । स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पैसा लेकर काम करने वाले कई मंत्री और अफसर जेल में हैं और कई लोग और जेल जाएंगे ऐसे में कोई भी डॉक्टर ऐसी गलती न करे, जिससे कार्रवाई करनी पड़े । महिला कैंसर क्लीनिक का उद्घाटन कर स्वास्थ्य मंत्री ने महिलाओं की सेहत को खुद के लिए ही नहीं बल्कि परिवार और समाज के लिए बेहत जरूरी बताया।

कम पैसे में कैंसर जैसी बीमारी के मरीजों के बेहतर इलाज का दावा करते हुए कैंसर विशेषज्ञ की टीम ने भारत सरकार के रिजनल सेंटर के साथ मिलकर काम करने पर भी बल दिया। लेकिन विशेषज्ञों ने ये भी कहा कि प्रदेश में और कैंसर अस्पताल बनाए जाने की जरूरत हैं।

अब काम डाक्टरों और एनजीओ को करना है।  एनजीओ के साथ मिलकर लोगों को जागरूक कर पहले भी बेहतर परिणाम आ चुके हैं ऐसे में अगर सरकार अपने बजट देने के वादे पर खरा उतरती है तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मुलायम सिंह का वो सपना जरूर साकार होगा जिसके तहत कैंसर मुक्त प्रदेश के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल को स्टेट रिफेरल सेंटर बनाया गया है। 

 

loading...

Leave a Reply