Breaking News

रेल के किराए पर नहीं चलेगी प्राइवेट ऑपरेटर्स की मनमर्जी, रेलवे तय करेगा टिकट के दाम

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन का परिचालन लखनऊ से नई दिल्‍ली के बीच अक्‍टूबर के पहले सप्‍ताह में शुरू होने जा रहा है। इसी महीने त्‍योहारों का सीजन भी शुरू होने जा रहा है। ऐसे में भारतीय रेलवे ने पहले ही साफ कर दिया है कि प्राइवेट ट्रेनों में त्‍योहारों के दौरान मांग बढ़ने पर टिकटों की कीमत को नियंत्रित करने के लिए रेल विकास प्राधिकरण (आरडीए) एक रेगुलेटर की व्‍यवस्‍था करेगी। इस रेगुलेटर का कार्य प्राइवेट ट्रेन में टिकटों की कीमत और अन्‍य चीजों पर रहेगा, ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो।

किराए पर लगेगा ऊपरी कैप
रेल विकास प्राधिकरण (आरडीए) को निजी ट्रेन ऑपरेटर्स के लिए सीमा या दिशानिर्देशों को परिभाषित करने के लिए नियामक के रूप में तय किया जाएगा। रेलवे रेगुलेटर ट्रेन का संचालन करने वाले निजी ऑपरेटर्स के लिए किराए पर एक ऊपरी कैप भी लगाएंगे। इसका फायदा यह होगा कि निजी ऑपरेटर यात्रियों से मांग बढ़ने पर भी बहुत ज्‍यादा दाम टिकट का नहीं ले सकेंगे।

कई उद्योगपतियों ने ट्रेन ऑपरेट करने की जताई इच्‍छा
बताया जा रहा है कि रेल मंत्रालय अब आरडीए की भूमिका को फिर से परिभाषित करने के लिए काम कर रहा है, जिसमें निजी ऑपरेटर्स के लिए नियम और शर्तें होंगी। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि अभी किराए और अन्‍य चीजों को लेकर नियम तय नहीं हुए हैं। हालांकि, इनको लेकर बड़ी तेजी से काम चल रहा है। उन्‍होंने बताया कि कई उद्योगपतियों ने प्राइवेट ट्रेन ऑपरेट करने की इच्‍छा जाहिर की है। हालांकि, उन्‍होंने किसी का नाम नहीं बताया, लेकिन यह जरूर कहा कि उचित और पारदर्शी तरीके से निजी ऑपरेटर्स के हाथों में ट्रेन परिचालन की जिम्‍मेदारी सौंपी जाएगी।

नवरात्र में चलाना चाहते हैं पहली प्राइवेट ट्रेन
रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक तेजस क्लास ट्रेन के लिए रेलमंत्री पीयूष गोयल को प्रस्ताव भेज दिया गया है। बोर्ड चार अक्टूबर को नवरात्र पर इस ट्रेन को चलाना चाहता है। यदि मंत्री ने पांच अक्टूबर का समय दिया तो उसी के हिसाब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी समय मांगा जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार का सहयोग भी तेजस क्लास ट्रेन की ब्रांडिंग में मिलेगा। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस ट्रेन का किराया तय हो गया है। नौ सितंबर को दिल्ली में होने वाली बैठक में किराये को अंतिम स्वीकृति देने के साथ ही टिकटिंग की व्यवस्था, खान-पान, टीटीई सहित सभी पहलुओं को आइआरसीटीसी के अधिकारी अंतिम रूप दे देंगे।

लखनऊ जंक्शन पर भी तैयारी शुरू
तेजस क्लास ट्रेन का रैक लखनऊ में 30 जून को आया था। इसके बाद रैक को पहले गोमतीनगर और उसके बाद ऐशबाग कोचिंग डिपो में खड़ाकर दिया गया। तेजस क्लास ट्रेन को लखनऊ जंक्शन के प्लेटफार्म छह से चलाया जाएगा। वाई-फाई और मूविंग टॉकीज के जरिये रेलवे प्री लोड कार्यक्रम की सुविधा यात्रियों को देगा।

loading...