Breaking News

50 हजार दलितों को मिला रोजगारः डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल

लखनऊ. 10 नवम्बर, 2019, उत्तर प्रदेश का दलित आर्थिक रूप से सशक्त हो रहा है। पिछले दो वर्ष में करीब 50 हजार दलितों को रोजगार से जोड़ा गया है। योगी आदित्यनाथ की सरकार का दलितों पर विशेष ध्यान है। ये बातें अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने दलित उद्यमियों के सम्मेलन में कही है। उत्तर प्रदेश सरकार के लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल भी कार्यक्रम में शामिल हुए।

उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डा. लालजी प्रसाद निर्मल ने डिक्की (दलित इंडियन चैम्बर आफ कामर्स एण्ड इन्ड्रस्टी) के एक दिवसीय अधिवेशन में मुख्य अतिथि रहे। उन्होंने हाशिए के दलित परिवारों को रोजगार से जोड़ने का श्रेय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से 1389 अनुसूचित बाहुल्य गांव को प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम के तहत आदर्श ग्राम के रूप में विकसित किया जा रहा है। यह गांव सम्पर्क मार्ग, सोलर लाइट, ई-सुविधा, आंगनवाडी, शुद्व पेय जल, आवास, शौचालय, पेंशन आदि योजनाओं से पूर्णतः आच्छादित होंगे। डा. निर्मल ने यह भी कहा कि दलितों को स्वावलम्बी बनाना होगा, क्यों कि विश्व के बदलते परिदृश्य में मात्र आरक्षण से दलितों का सशक्तिकरण नहीं हो सकता। डा0 निर्मल ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने पहली बार दलितों के लिए आर्थिक एजेन्डा लागू किया है।

डिक्की के संस्थापक अध्यक्ष पदमश्री कांबले ने बताया कि डिक्की के सहयोग से इस वर्ष उत्तर प्रदेश में दलित उद्यमियों को 200 टैंकर और 56 पेट्रोलपम्प आवंटित हुए है। कांबले ने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में यूपी में 1000 दलित उद्यमियों को रोजगार से जोड़ने का डिक्की का लक्ष्य है। कार्यक्रम में डिक्की नार्थ इंडिया के अध्यक्ष संजीव डांगी, श्रीमती सीमा कांबले सहित सैकड़ों दलित उद्यमी शामिल हुए।