शरद यादव का धोती खोलवा है सेक्स स्कैंडल में संदीप का बचाव करने वाला आशुतोष

AAP-Sex-Scandal-Sandeep-Kumar-Ashutoshलखनऊ।। कभी आईबीएन सेवन न्यूज चैनल में सामंतवाद को फैला रहा पत्रकार आशुतोष अब भले ही सियासत करने के लिए आम आदमी पार्टी में चला गया है, लेकिन उसकी मांसिकता में कोई सुधार नहीं आया है। मान्यवर कांशीराम के हाथों लखनऊ में थप्पड खाने वाला पत्रकार आशुतोष रातों-रात हीरो बन गया था। हाल ही में आम आदमी पार्टी के विधायक और दिल्ली सरकार में मंत्री रहे संदीप कुमार के सेक्स स्कैंडल को उचित ठहराने की कोशिश में जुटा आशुतोष अब पूरी तरह से बेनकाब हो गया है। वह अब इसे गांधी और अटल बिहारी वाजपेई की निजी जिंदगी से जोड़कर देख रहा है। आशुतोष पर दलित और पिछड़ा विरोधी होने का भी सबूत है। वह एक ओर जहां मायावती और कांशीराम की मीटिंग को उनके आंतरिक संबंधों से जोड़कर सवाल करता है और पीटा जाता है, वहीं इसने जेएनयू में कार्यक्रम करने गए शरद यादव की धोती पीछे से खोलकर उन्हें अपमानित भी करने का काम करता है।

जानकार मानते हैं कि आशुतोष जेएनयू में मंडल के उतरार्ध काल में मंडल समर्थक समारोह के दौरान शरद यादव की धोती खींचने, दलित- पिछड़ा आरक्षण विरोधी जातिवादी नारे लगाने और शरद यादव की गाड़ी पर पत्थर मारने की घटनाओं में भी लिप्त रहा है। वह पूरी तरह से दलित-पिछड़ा और मुस्लिम विरोधी है। यही वजह है कि जेएनयू में भी दलित-पिछड़े और मुस्लिम छात्र आशुतोष को पसंद नहीं करते हैं।

बताया जा रहा है कि सेक्स स्कैंडल में शामिल और आशुतोष के काफी करीबी रहे संदीप कुमार ने कोल्ड ड्रिंक्स में नशे की दवा मिलाकर महिला को दी थी और उसके बाद यौन शोषण किया। ये आरोप उस महिला का है जो सीडी में दिखाई दे रही है। महिला ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है और अब आम आदमी पार्टी के पूर्व मंत्री के खिलाफ रेप का केस दर्ज हो चुका है। इस बीच पुलिस ने संदीप कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक रविवार को अब संदीप कुमार को कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि शुरुआती सबूत के आधार पर विधायक को गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली के बर्खास्त मंत्री संदीप कुमार के ‘सीडी कांड’ की जांच का काम शुक्रवार को शुरू कर दिया था। क्राइम ब्रांच के जॉइंट सीपी रवींद्र यादव ने इस केस की जांच का जिम्मा एक विशेष टीम को दिया है। इस टीम का नेतृत्व एक डीसीपी कर रहे हैं। वहीं पुलिस सीडी की जांच की बात कर रही है। पुलिस उन सभी फोटोग्राफ और वीडियो की जांच करेगी, जिसमें संदीप कुमार महिलाओं के साथ अंतरंग पलों में नजर आ रहे हैं। सीडी की फोरेंसिक जांच भी कराई जाएगी।

हालांकि संदीप कुमार सीडी में खुद के होने से इंकार कर चुके हैं, लेकिन अब सच की तह तक जाने का काम पुलिस को करना है। पुलिस को सबसे पहले यह पता लगाना है कि मीडिया तक सीडी पहुंचाने वाले शख्स के पास सीडी कहां से आई, ये वीडियो कहां बनी, कब बनी, किसने बनाई, बाहर कैसे आई? ये सारे सवाल पुलिस के सामने हैं।

फोटोः सेक्स स्कैंडल में फंसे आप नेता संदीप कुमार का बचाव करते हुए आशुतोष।

loading...
Pin It