बंद हो कर्मचारियों के पेंशन की लूटः रविंद्र सिंह पटेल

RLDलखनऊ ।। युवा रालोद के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सिंह पटेल को अटेवा पेंशन बचाओ मंच ने ज्ञापन सौंपकर समर्थन मांगा है। ज्ञापन पत्र में कहा गया कि प्रदेश में वर्ष 2005 से सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना खत्मकर नई पेंशन योजना (एनपीएस) लागू कर दी गयी है। इसमें दुर्भाग्यपूर्ण यह है, कि कर्मचारियों के वेतन से 10 प्रतिशत धन और 10 प्रतिशत सरकारी योगदान से पूंजीपतियों को देकर कर्मचारियों के भविष्य को षड़यंत्रपूर्वक अंधकार में डाला जा रहा है।

रालोद के कार्यालय में मंगलवार को अटेवा-पेंशन बचाओ मंच के प्रदेश महामंत्री डॉ. नीरज पति त्रिपाठी के नेतृत्व में प्रतिनिधि मण्डल ने युवा रालोद के प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र सिंह पटेल को सरकारी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बचाने के लिए ज्ञापन सौंपकर मामले में सहयोग की मांग की है।

मामले को लेकर रविंद्र सिंह पटेल ने कहा कि बहुत ही दुभाग्यपूर्ण है कि सरकारी कर्मचारियों की पेंशन के लिए निर्धारित धन पूंजीपतियों (कंपनियों) को देकर सरासर उनके साथ धोखाधड़ी की जा रही है। राष्ट्रीय लोकदल का यह मानना है कि नई पेंशन योजना तुरन्त बंद होनी चाहिए। इस योजना से लगभग 10 लाख कर्मचारियों के अलावा उनके परिवार के लोग भी इस कुव्यवस्था से प्रभावित होंगे।

रालोद (युवा) के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सिंह पटेल ने आगे कहा कि इस हिसाब से प्रदेश भर में 50 लाख से ज्यादा जनसंख्या प्रभावित हो रही है। युवा रालोद के अध्यक्ष ने प्रतिनिधि मण्डल को भरोसा दिया है कि रालोद आपकी समस्या पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए हर सम्भव मदद करेगा, साथ ही अपने उच्च पदाधिकारियों एवं सरकार से इस संबंध में जरूरी कदम उठाते हुए सहयोग करेगा।

प्रतिनिधि मण्डल में डॉ. राकेश यादव, रविन्द्र वर्मा, पुलिस परिषद के अध्यक्ष अजय सिंह, रजत यादव, विक्रमादित्य मौर्य, शिवा वर्मा, विद्यासागर, महेन्द्रपाल सिंह, सै. सादिक अब्बास, ज्ञानेन्द्रशंकर त्रिपाठी आदि कर्मचारी नेता उपस्थित थे।

फोटोः पेंशन बचाओ के तहत रालोद के प्रदेश अध्यक्ष रविंद सिंह पटेल को ज्ञापन सौंपते हुए अटेवा के पदाधिकारी।

loading...
Pin It