#Baghpat में नाव डूबने से बड़ा हादसा, 62 डूबे… DEATH की संख्या…

#Baghpat. बागपत में 22 किसानों की नदीं में डूबने से एक साथ DEATH हो गई। ये सभी लोग नाव में सवार होकर #Baghpat से हरियाणा जा रहे थे। इस दौरान यमुना नदी में नाव पटल गई। इसके बाद कोहराम मच गया। हादसे में घायल लोगों को #Baghpat के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। गंभीर रूप से घायलों को मेरठ के जिला अस्पताल में भेज दिया गया। dainikdunia.com 

#bagpat death

 

#Baghpat में हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने जिले के एसएसपी के साथ हाथा पाई की। इस दौरान POLICE की गाड़ियों में आग भी लगा दी गई और पथराव किया। ग्रामीणों को हटाने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। हर तरफ चीख पुकार मच गई।

 

डीएम और एसपी ने भागकर जान बचाई। हादसे पर यूपी के सीएम ने दुख जताया है और 2 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। सरकार ने घटना की MAGISTRATE से जांच कराने का आदेश दिया है। वहीं प्रभारी मंत्री एपी बघेल और सुरेश राणा को #Baghpat भेजा है। dainikdunia.com 

 

इसे पढ़ेंः AKHILESH YADAV की खेल नीतियों को गांव-गांव पहुंचाने में जुटे महेंद्र नाथ यादव

 

dainikdunia.com को मिली खबर के मुताबिक, हादसा #Baghpat शहर से 6 किलोमीटर दूर कांठा गांव के पास हुआ है। #uttarpradesh के इस गांव के लोगों की जमीन यमुना नदी से लगी #hariyana की सीमा में हैं। वहां हर दिन kisan और उनके साथ मजदूर नाव से ही खेतों में काम करने जाते हैं।

#wednesday को भी सुबह करीब साढ़े छह बजे गांव के ही रिजवान की नाव में लोग जा रहे थे। बीच यमुना नदी में नाव का संतुलन बिगड़ गया और पलट गई। नाव में सवार करीब 62 लोग यमुना में डूब गए। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। आसपास के लोगों के शोर मचाने पर पुलिस प्रशासन को सूचा दी गई। dainikdunia.com 

 

हादसे की सूचना पर #dm और #asp मौके पर पहुंचे। medical team भी बुलाई गई। हादसे के बाद ग्रामीणों ने खुद मोर्चा संभाला। उन्होंने कई लोगों को बाहर निकाला। डूबने से 22 लोगों की मौत हो चुकी थी। dainikdunia.com 

#Baghpat में चालक के लालच और यात्रियों की DEATH हुई

मौके पर मौजूद रोहित और संजीव के मुताबिक, #Baghpat में नाव चालक ने कई बार नाव को बीच रास्ते से लौटाया, जिसके कारण हादसा हुआ। नाव हर दिन क्षमता से अधिक यात्री भरकर ले जाई जाती है। इस नाव की क्षमता करीब 20 से 25 लोगों को ले जाने की हैं, लेकिन हर दिन 50 से ज्यादा लोगों को चालक ले जाता रहा है।

हादसे के वक्त बताया गया कि चालक कांठा निवासी रिजवान नाव में 25-30 यात्री बैठाकर चल दिया, तभी किनारे पर कुछ लोगों और आ गए और आवाज लगाकर नाव को रुकवा लिया। चालक नाव को बीच से लौटा लाया और 10 और लोगों को बैठाकर चल दिया। नाव कुछ दूर ही चली थी कि कुछ और लोगों के आवाज लगाने पर नाव को लौटा दिया गया। दूसरी बार भी नाव में 12 यात्री बैठै, लेकिन एक बार फिर कुछ यात्री पहुंच गए और आवाज लगाकर नाव को वापस बुला लिया। तीसरी बार में भी काफी यात्री सवार हो गए। यमुना में हालांकि स्तर फिलहाल कम है, लेकिन बीच में नाव जाकर पलट गई और हादसा हो गया। #Baghpat

loading...
Pin It