गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर दी गई सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग

लखनऊ ।। सिविल सेवा की तैयारी कर रही छात्राओं ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या को सुरक्षा दिवस के रूप में मनाया। इसी के साथ तीन दिन से चल रहा सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग कार्यक्रम का बुधवार को समापन हो गया।

आदर्श पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र अलीगंज में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सैकड़ों सिविल सेवा की तैयारी कर रही छात्राओं ने सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग का फाइनल रिहर्सल किया। यह ट्रेनिंग पिछले तीन दिनों से दी जा रही थी। आज देश की महिलाएं नए-नए कीर्तिमान ही स्थापित नहीं कर रही हैं, बल्कि वह हर क्षेत्र में कुछ ऐसा कर रही हैं कि आप उनकी सोच और उनके नजरिए को नजर अंदाज नहीं कर सकते हैं। कुछ ऐसा ही अलीगंज के पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र में भी देखने को मिला। सेल्फ डिफेंस को ये छात्राएं सुरक्षा के लिए अचूक हथियार मानती हैं।

क्या कहती हैं कोचिंग की प्रशासनिक अधिकारी

यूपी सरकार द्वारा संचालित कोचिंग की प्रशासनिक अधिकारी सुनीता यादव कहती हैं कि आवासीय सुविधाओं से लैस इस कोचिंग नींव मुलायम सिंह यादव ने रखी थी। इस कोचिंग में तैयारी कर रही लड़कियां अब सिविल सेवाओं में स्थान पा रही हैं। वह तरक्की कर रही हैं। यह हमारे लिए गर्व की बात है, लेकिन अब ये छात्राएं खुद की सुरक्षा को लेकर भी कुछ हुनर सीखना चाहती हैं। इस लिए सेल्फ डिफेंस के द्वारा इन्हें छोटे-छोटे स्टेपस बताए जा रहे हैं, जिससे इनका मनोबल बढ़े और कभी विपरीत परिस्थिति आने पर ये घबराएं न, बल्कि डटकर मुकाबला करें।

यशभारती पुरस्कार से सम्मानित यूपी के सबसे कम उम्र के सेल्फ डिफेंस ट्रेनर अभिषेक यादव इसे बहुत अच्छा मानते हैं कि अब महिला दिवस से लेकर गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर इस तरह से ट्रेनिंग लेने को लेकर छात्राओं में रुचि बढ़ी है। हमारी कोशिश है कि समाज में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर, जो ट्रेनिंग दी जाए वह हमारे राष्ट्रीय त्योहारों पर जश्न और जोश का हिस्सा बने। गणतंत्र दिवस पर आईएएस/आईपीएस की तैयारी कर रही छात्राओं का सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेना एक संदेश भी है कि हम आजाद ही नहीं हैं, सुरक्षित भी हैं।

फोटोः ट्रेनिंग के दौरान एक दूसरे पर हमला करती हुई आदर्श पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र अलीगंज की छात्राएं।

loading...
Pin It