Breaking News

कोरोना संक्रमण में भी दलितों-पिछड़ों की हो रही हत्याएं, कांग्रेस उठाएगी मुद्दा: मनोज यादव

दैनिक दुनिया डेस्क

लखनऊ. सुल्तानपुर के सराय अचल ग्राम पंचायत के कोतवाली देहात थाना में सात गोली मारकर विनोद यादव समेत पूरे प्रदेश में पिछले एक महीने में केवल दलित पिछड़े समाज के दर्जनों लोगों की हत्याएं हो गई हैं। अन्य समाज के लोग भी अपराध के शिकर रहे हैं। कोरोना संक्रमण के समय भी सरकार अपराध रोकने में पूरी तरह से फेल है। कोरोना खत्म होते ही सदन और सड़क पर यह मुद्दा उठाएगी। ये बातें कांग्रेस के उत्तर प्रदेश के महासचिव मनोज यादव ने कही है।

मनोज यादव कांग्रेस के तेज तर्रार युवा नेता माने जाते हैं। मनोज का कहना है कि कोरोना के संक्रमण से डरे लोगों को भूख मार डाल रही है। सरकार की कोशिश नाकाम है। भोजन सभी को नहीं मिल पा रहा है। कोटेदार और अधिकारियों के बीच राशन की बंदरबांट चल रही है। हर व्यक्ति को राशन एक किलो से लेकर दो किलो कम दिया जा रहा है। कोरोना के समय में ऐसा किया जना शर्मनाक है।

इंडियन नेशनल कांग्रेस उत्तर प्रदेश के महासचिव और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सामाजिक न्याय के पैरोकार छात्रनेता रहे मनोज यादव कहते हैं कि वह कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी के निर्देशों पर एक सिपाही की तरह लखनऊ के आसपास कोरोना महामारी के चलते गरीब गुरबा प्रवासी मजदूर, घरों में काम करने वाली मेड, रिक्शा मजदूर शहरी गरीब सहित दिहाड़ी मजदूरों को कच्चा राशन पहुंचाने की व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित कर रहे हैं। इस काम मे उनके साथ कांग्रेस के सिपाही के साथ-साथ अन्य लोग भी इस मदद में जुटे हैं। लखनऊ में किसी को कहीं भी कोई मदद की दरकार हो तो इन युवा तुर्क को तत्काल 9455009955 पर व्हाट्सएप्प या फ़ोन कर सकता है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र नेता रहे मनोज यादव सामाजिक न्याय को लेकर पूरे प्रदेश में आंदोलन चलाते रहे हैं। मनोज यादव त्रिस्तरीय आंदोलन में भी काफी सक्रिय रहे और आंदोलन के समय पुलिस के दमन का दंश भी उन्हें झेलना पड़ा था। बाद में प्रियंका गांधी ने उन्हें उत्तर प्रदेश कांग्रेस का महासचिव बना दिया था। वह गांव देहात और लखनऊ में रहने वाले जरूरतमंदों तक राशन और बना हुआ खाना पहुंचाने का काम कर रहे हैं।