Monday, September 6, 2021

‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पत्रकारों के विवेक पर निर्भर’

visual. 001 (1)लखनऊ।।(डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क)।। लखनऊ के यूपी प्रेस क्लब में 9 मार्च को वो वक्त देखने को मिला जब पत्रकार  अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मसले पर खुद ही लकीर खींचते दिखाई दिए। मौका था वरिष्ठ पत्रकार के. विक्रम राव की चौथी पुस्तक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता निर्बाध या नियंत्रित के विमोचन का । यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव समारोह के मुख्य अतिथि रहे, जबकि कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार योगेश मिश्र ने किया। दिल्ली से आए जनसत्ता के संपादक ओम थानवीं सभी पत्रकारों को नसीहत दी कि पत्रकार सरकारी लाभ, सरकारी आवास और कई रियायतों से दूर रहें, क्यों कि इससे पत्रकारिता की दिशा भटक जाती है। कैनविज टाइम्स के प्रथान संपादक प्रभात रंजन दीन ने भी पत्रकारिता की स्वतंत्रता को लेकर अपने मौलिक विचार रखे।

यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव ने कहा कि अभिव्यक्ति के मामले में पत्रकारों को राष्ट्र और समाज को सबसे उपर रखना होगा। पत्रकारिता की लक्षण रेखा और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मुद्दे को शिवपाल यादव ने पत्रकारों के विवेक पर छोड़ते हुए कहा कि हम सभी को अपनी जिम्मेदारी से समाज और देश के बारे में सोचना होगा।

 

Leave a Reply