Tuesday, September 7, 2021

एक साल बाद सीएम को आई पानी की याद

asdडीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।।लखनऊ।। अखिलेश यादव को कुर्सी संभालने के एक साल बाद बुदेलखंड के प्यासे लोगों की याद आ रही है। चुनाव के समय सत्ता मिलते ही पानी की किल्लत दूर करने का भरोसा देने वाले अखिलेश यादव अपने उस वादे को लेकर निर्देश देने में एक साल लगा दिए। मुख्यमंत्री ने बुन्देलखण्ड में पेयजल की व्यवस्था के लिए प्रभावी कार्यवाही करने समेत महोबा, बांदा तथा झांसी में पेयजल आपूर्ति के लिए कार्य योजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं साथ ही ये भी कहा है कि बुन्देलखण्ड में प्राचीन तालाबों को पुनर्जीवित किया जाएगा।

अफसरों को इमानदारी व कर्मठता से काम करने का पाठ पढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सूखाग्रस्त इलाकों में पेयजल की व्यवस्था के साथ-साथ बुन्देलखण्ड के विकास के लिए प्रभावी कार्रवाई की जाए। शास्त्री भवन में बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पेयजल की स्थिति के सम्बन्ध में बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में मंत्रिमण्डल के सदस्य शिवपाल सिंह यादव, मोहम्मद आजम खाँ, आनंद सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में पाइप लाइन से पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ ही सबमर्सिबल मोटर लगाकर कम ऊँचाई के छोटे-छोटे वाटर टैंक स्थापित कर पेयजल की आपूर्ति को बढ़ावा दिया जाने के भी निर्देश दिए हैं।

बुन्देलखण्ड क्षेत्र के सभी तालाबों का दस्तावेजीकरण कर उनको पुनर्जीवित करने के साथ ही आसपास से अवैध कब्जों को हटाकर जल संग्रहण क्षेत्र को खाली कराया जाने को लेकर मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में बने सभी रिजर्वायर्स (जलाशय) का परीक्षण कराकर इनमें जमी मिट्टी को हटाने के लिए कार्य योजना भी प्रस्तुत करने का निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने ये भी कहा है कि इस क्षेत्र में बनने वाले सभी चेकडैम ऐसे स्थानों पर बनाए जाएं, जहां से भू जल स्तर में वृद्धि करने में मदद मिले। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सिंचाई के लिए स्प्रिंकलर तथा ड्रिप सिस्टम को बढ़ावा देने के भी निर्देश दिए। एजेंसी

 

Leave a Reply