Monday, September 6, 2021

कहां रेपिस्ट बाप को मिली 25 साल की कैद

resizedimage (1) bapनई दिल्ली।। अदालत ने 14 साल की सौतेली बेटी के साथ रेप करने वाले एड्स पीडि़त शख्स को 25 साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। अडिशनल सेशन जज कामिनी लॉ की अदालत ने 42 वर्षीय दोषी को तीन अलग-अलग धाराओं में सजा सुनाते हुए कहा कि तीनों सजाएं अलग – अलग चलेंगी। अदालत ने दोषी पर 6000 रुपये का जुर्माना भी लगाया। अदालत ने पीडि़त लड़की के पुनर्वास के लिए उसे दो लाख रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया है। ऑर्डर की कापी दिल्ली सरकार को भेजने का आदेश दिया है , जिससे उसका पुनर्वास किया जा सके। जज कामिनी लॉ ने सजा सुनाते हुए कहा कि मासूम बच्चों के शोषण की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। उन्होंने एक सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि देश में 53 फीसदी बच्चे दैहिक शोषण के शिकार होते हैं। हर तीन लड़कियों में से एक लड़की और हर 10 लड़कों में से एक लड़का बचपन में शारीरिक शोषण का शिकार हुआ होता है। एक अन्य सर्वे में संस्था ने जितने बच्चों पर सर्वे किया उनमें से आधे से अधिक जब 10 साल से कम उम्र के थे उस दौरान उनका शोषण किया गया।

अदालत ने कहा कि यह मामला भी ऐसा ही है जिसमें 14 साल की लड़की की मां की बीमारी के चलते मौत हो गई थी। मां की मौत के बाद उसके एड्स पीडि़त सौतेले पिता ने रेप करना शुरू कर दिया। वह टीबी का भी मरीज है। उसकी करतूतों का भेद तब खुला जब पीडि़त लड़की के सौतेले भाई को हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया। वहां पर उसका एड्स का इलाज किया गया। पीडि़त लड़की उसकी देखभाल के लिए हॉस्पिटल में रुकती थी। वहां पर उसकी तबीयत बिगड़ गई। डॉक्टरों ने उसकी जांच की तो पता चला कि वह असुरक्षित यौन संबंध बनाए जाने के कारण गंभीर बीमारी से पीडि़त है। पूछने पर लड़की ने अपने सौतेले पिता की करतूतों का खुलासा डॉक्टरों के सामने कर दिया। लड़की का अबार्शन भी कराया जा चुका था।

डॉक्टरों ने लड़की को स्नेह सदन में भेज दिया। लड़की के पिता ने वहां पहुंचकर दोबारा उसके साथ रेप की कोशिश की। लड़की ने इसकी शिकायत की। पांच अगस्त 2011 को स्नेह सदन ने चाइल्ड हेल्पलाइन से मदद मांगी। मामला शालीमार बाग थाने पहुंचा। पुलिस ने लड़की का मेडिकल कराया। मेडिकल में उसके साथ हुए दुराचार की पुष्टि हो गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। अदालत ने दोषी को रेप में 10 साल , हत्या की कोशिश में 10 साल और अबार्शन कराने में 5 साल कैद की सजा सुनाई है। तीनों सजाएं अलग – अलग चलेंगी। अदालत ने दोषी पर कुल 6 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया।(एजेंसी)।

Leave a Reply