Wednesday, September 8, 2021

क्या कर रहे हैं बीजेपी के बड़े नेता ?

resizedimage (1) RAJNATHबीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद फिर संभालने के बादराजनाथ सिंह ने सबसे पहला निशाना केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे पर साधा और ऐलान किया किहम सड़क से लेकर संसद तक लड़ेंगे। अध्यक्ष बननेके बाद राजनाथ का यह पहला कार्यक्रम था लेकिन इतने लोग नहीं जुटे , जितने की उम्मीद थी। नेतामंच पर भाषण देते रहे और लोग कहीं पुतले के साथफोटो शूट कर रहे थे तो कहीं दूसरी ही चर्चाओं में व्यस्त थे।

जंतर मंतर पर दिल्ली बीजेपी नेताओं की राजनाथ से साथ फोटो शूट कराने की भी होड़ दिखी।जब राजनाथ मंच पर आए तो सब उनके पास खड़े होने की होड़ में रहे। जबकि मंच पर पहले सेबहुत लोग मौजूद थे और आलम यह हो गया कि राजनाथ के साथ आए सिक्योरिटी ऑफिसर्स सेउनकी कुछ बहस भी हो गई। शिंदे के खिलाफ लड़ाई का पूरा जोश महज मंच तक ही सिमटारहा। दिल्ली बीजेपी के नेता सुबह 11 बजे से पहले ही यहां पहुंच गए और मंच पर बैठ गए जिसेधरने का नाम दिया गया था। सामने कुर्सियां लगी थी जिनमें कार्यकर्ता बैठ गए।

बीजेपी नेता विजय गोयल ने जब भाषण शुरू किया तो उन्होंने राजनाथ की तारीफ की और दूसरेनेताओं की तारीफ करने के बाद उन्हें वहां मौजूद दिल्ली बीजेपी नेताओं के भी नाम लिए ,लेकिन हर्षवर्धन का नाम लेना भूल गए। उन्होंने आरएसएस के बारे में ज्यादा बोला। उन्होंने कहाकि कोई सबसे बड़ा राष्ट्रभक्त संगठन है तो वह मेरा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन है। राजनाथ ने जबअपनी स्पीच शुरू की सबसे पहले विजेंद्र गुप्ता का नाम लिया क्योंकि वह प्रदेश बीजेपी के अध्यक्षहै और यह धरना प्रदेश बीजेपी ने ही आयोजित किया था। उसके बाद वह सुषमा स्वराज , अनंतकुमार … और नाम लेने लगे। तभी वहां कानाफूसी होने लगी कि क्या हर्षवर्धन का नाम लेंगे ?राजनाथ ने उनका भी नाम लिया और कहा कि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हर्षवर्धन। हालांकि राजनाथ नेवहां मौजूद सभी बड़े नेताओं के नाम लिए , लेकिन फिर भी जब कुछ ही दिनों में प्रदेश अध्यक्षका नाम तय होना है तो हर बात का मतलब निकाला जा रहा है। सुषमा स्वराज के आने के बादजब मंच पर मौजूद कुछ लोग जब प्रदेश अध्यक्ष का नाम लेकर नारे लगाने लगे तो उन्हें बीच मेंही रोक दिया गया और दूसरे नारे शुरू हो गए।

Leave a Reply