Saturday, September 4, 2021

जंतर-मंतर पर कर्मचारी करेंगे प्रदर्शन

ooलखनऊ।। डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।। भारतीय लोकसेवा कर्मचारी महासंघ (आईपीएसईएफ़) आगामी सात मई को दिल्ली के जंतर-मंतर पर राष्ट्रीय स्तर की रैली करेगा। लखनऊ के दारूलशफा में हुई प्रेस-वार्ता के दौरान संघ के अध्यक्ष वीपी मिश्रा और मीडिया प्रभारी सुनील कुमार यादव ने कहा कि संघ कर्मचारियों को उनका हक़ दिला कर ही रहेगा। संघ की मांग है कि सरकार केंद्र और राज्य स्तर के कर्मियों के वेतन और भत्तों में अंतर न करे, क्योंकि दोनों ही कर्मी समान सेवाएं देते हैं, संघ में कर्मचारी शिक्षक मोर्चे से लेकर रेलवे फेडरेशन और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के साथ साथ कई नगर निगम और नगर पालिका के कर्मचारी यूनियन भी शामिल हैं। भारतीय लोकसेवा कर्मचारी महासंघ से पूरे देश के 5 करोड़ से अधिक कर्मचारी जुड़े हैं। दो दर्जन से अधिक विभागों के कर्मचारी संगठन को मिलाकर बना ये संघ कर्मचारियों के हित की लड़ाई की धार और तेज करना चाहता है यही वजह है कि संघ अब जंतर-मंतर कूंच करने की तैयारी में है।

संघ के अध्यक्ष ने संविदा पर स्वास्थ्य कर्मियों की भर्ती को रोकने की मांग की है। अध्यक्ष का कहना है कि इसमें घपला होता है और बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां होती हैं।पूरे देश में कर्मचारियों के समान वेतन मान की मांग कर रहे संघ के मीडिया प्रभारी सुनील कुमार यादव ने कहा कि कर्मचारियों की नियमित नियुक्ती की जानी चाहिए, और नई पेंशन योजना को रद्द कर पुरानी पेंशन योजना को लागू किया जाए। सुनील कुमार यादव का कहना है कि छठे वेतन आयोग का पूरा लाभ भी कर्मचारियों को नहीं मिल रहा है। राज्यों में कर्मचारियों को मिल रहे वेतन और भत्ते अलग-अलग हैं।

संघ इसके पहले प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री को ज्ञापन देकर कर्मचारियों की इस मांग से अवगत करवा चुका है, लेकिन सरकार ने ध्यान नहीं दिया जिससे कर्मचारी अब दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन को मजबूर हैं। लखनऊ के दारुलशफा में हुए प्रेसकांफ्रेंस में संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामराज दूबे और सचिव अशोक कुमार वर्मा भी मौजूद रहे।   

Leave a Reply