Monday, September 6, 2021

जनता परिवार ने पीएम के वादों को लेकर सरकार को घेरा

radhaनई दिल्ली।। केंद्र सरकार के खिलाफ सोमवार को जनता परिवार दिल्ली में एकजुट दिखा। सपा, राजद, जेडीयू इनलो और जेडीएस के नेताओं ने जंतर-मंतर पर धरना दिया। छह दलों के वरिष्ठ नेता महाधरने में मौजूद थे।

इस धरने के जरिए एनडीए सरकार के खिलाफ जनता परिवार के नेता चुनावी वादों को लेकर मोदी सरकार पर हमला करते नजर आए। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अपने सारे वादे तोड़ दिए। कालेधन के मुद्दे पर मोदी अपने वादे से पलट गए। हर आदमी के अकाउंट में पैसे की बात थी लेकिन हकीकत में ऎसा कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि किसानों से छल किया गया।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने भी पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता परिवार एक हो गया है। लोगों ने बहकावे में आकर वोट दिए हैं। मोदी को मालूम नहीं की हम कौन हैं? लालू ने मोदी पर झूठे वादे करने का आरोप लगाया और दो करोड़ नौकरियां देने के उनके कथित वादे का भी जिक्र किया। हैं।

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि चुनाव से पहले मोदी ने कहा था कि हम रोजगार देंगे, अच्छे दिन लाएंगे, उन वादों का क्या हुआ। समाजवादी पार्टी प्रमुख प्रमुख मुलायम सिंह यादव की अगुआई में एकजुट हुए जनता परिवार के इस प्रदर्शन में शरद यादव, नीतीश कुमार (जदयू), लालू यादव (राजद), एचडी देवेगौड़ा (जदएस), दुष्यंत चौटाला (इनेलो) और कमल मोरारका (सजपा) मौजूद थे।

सपा की राष्ट्रीय सचिव राधा यादव ने भी कालेधन और रोजगार को लेकर काम नहीं किए जाने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। राधा का कहना है कि युवाओं को रोजगार देने और गरीबों का जन धन के तहत बैंक अकाउंट खोलने का जो सपना दिखाया जा रहा है वह केवल अमीरों को लिए। बीजेपी का दूसरा नाम है भ्रमित जनता पार्टी।

फोटोः धरना स्थल पर पहुंची सपा की राष्ट्रीय सचिव राधा यादव कार्यकर्ताओं के साथ।