Sunday, September 5, 2021

जानिए किसने कहा- सड़कों पर महिलाएं हैं ज्यादा सुरक्षित

11

नई दिल्ली/लखनऊ।। महिलाएं कहां सुरक्षित हैं, इस सवाल का जवाब हर कोई जानना चाहता है। इसको लेकर अलग-अलग जवाब हो सकते हैं, लेकिन दिल्ली हाईकोर्ट का कहना है कि विवाहित महिलाएं ससुराल की अपेक्षा सड़कों पर ज्यादा सुरक्षित हैं। कोर्ट ने यह फैसला एक मामले की सुनवाई करते हुए दी है, जिसमें पत्नी की हत्या के आरोप में पति ने आजीवन कारावास की सजा से राहत के लिए उस समय घर नहीं रहने की दलील दी थी।

दैनिक दुनिया डॉट कॉम को मिली जानकारी के मुताबिक, हाईकोर्ट ने वर्ष-2011 में नजफगढ़ रोड़ पर स्थित एक बिल्डिंग में हुई विवाहिता की हत्या के मामले में पति के उम्र कैद को बरकार रखा है। जस्टिस प्रदीप नंदराजयोग और मुक्ता गुप्ता की बेंच ने विवाहिता के पति प्रदीप की इस अपील को खारिज कर दिया कि वह पत्नी की हत्या के समय घर पर मौजूद नहीं था। क्योंकि उसकी बहन और भाई ने हत्या के समय घर में रहने को लेकर बयान पहले ही दे चुके हैं।

कोर्ट ने मामले को गंभीर मानते हुए कहा कि आखिर पत्नी की हत्या कैसे हुई इसे पति को स्पष्ट करना होगा। जबकि यहां तो पति पत्नी की कुंदाल से हत्या करने के बाद फरार हो गया था। उसे अगले दिन पुलिस ने गिरफ्तार किया।