Saturday, September 4, 2021

नकली बीज की फैक्ट्री का भंडाफोड़, माल बरामद

बस्ती।। डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क/राघवेंद्र सिंहNAKLI FACTORY KA KHULASHA_VISUAL_BASTI UP 007।। कृषि विभाग से किसानों को कितना फायदा होता है और सरकार इस विभाग पर कितने रुपए खर्च करती है इसका आकड़ा रखपाना मुश्किल है । क्यों कि हर साल किसानों की जरूरतों को दिखाकर करोड़ों अरबों रुपए बजट इधर से उधर कर दिया जाता है लेकिन हो कुछ और ही रहा है। बस्ती जिले में किसानों के साथ धोखा कर रहे एक रैकेट का भंडाफोड़ संयुक्त निदेशक कृषि ने किया है। आरोप है कि मुंडेरवा इलाके में यह रैकेट एक मैरेज हाल में बाकायदा फैक्ट्री लगाकर किसानों को असली और पैदावार बीज के नाम पर नकली बीज बेच रहा था। संयुक्त निदेशक ने मौके से 210 कुंतल धान की भूसी और चार बोरी पैकिंग करने वाली पन्नी बरामद की है जिसमें पैक कर किसानों को ठगा जा रहा था। आरोप है कि इस धंधे में कई कारोबारी और कृषि विभाग के अफसर भी मिले हुए हैं।

सवाल ये है कि कृषि विभाग मुख्यमंत्री के ही पास होता है। इसके बाद भी न तो किसानों को सही समय पर बीज मिल पाती है और न ही किसान को उस योजना का लाभ मिलता है जिसका विज्ञापन हजारों करोड़ रुपए देकर करवाया जाता है। कृषि की जानकारी के लिए बना किसान कॉल सेंटर सिर्फ दिखावटी और सरकार के लिए बजट खपाने का अड्डा बनकर रह गया है। न तो किसानों की परेशानियों से सरकार रूबरू हो रही है और न ही अफसरों के पास शहर छोड़ कर गांव में किसानों के हालात जानने की फुरसत है।

Leave a Reply