Saturday, September 4, 2021

बच्चों का एडमीशन करवाने जा रहे हैं तो जान लें ?

नर्सरी एडमिशन की रेस में जितनी तैयार स्कूलों को करनी है उससे कहीं ज्यादा तैयारी पैरंट्स को करनी पड़ती है। एडमिशन के दौरान कई तरह के डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है। ऐसे में कोई दिक्कत न हो इसके लिए जरूरी है कि पैरंट्स कुछ डॉक्यूमेंट तैयार करा लें। क्योंकि अगर आपके पास जरूरी डॉक्यूमेंट नहीं हैं तो आप अपने बच्चे का एडमिशन कराने से चूक सकते हैं। 

resizedimage (1) ggबर्थ सर्टिफिकेट : नर्सरी में एडमिशन के समय बर्थ सर्टिफिकेट सबसे महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट है। इसके बिना आपके बच्चे का एडमिशन हो ही नहीं सकता। अधिकतर पैरंट्स हॉस्पिटल से बना सर्टिफिकेट लेकर स्कूल जाते हैं , पर वह गलत है। गाजियाबाद के स्कूल नगर निगम की ओर से जारी बर्थ सर्टिफिकेट को ही मान्य करते हैं। पैरंट्स जिला प्रशासन द्वारा बनाए गए जनसेवा केंदों में जाकर सर्टिफिकेट लिए अप्लाई कर सकते हैं। केंद से बर्थ सर्टिफिकेट 15 दिन के अंदर बन जाते हैं।

हेल्थ सर्टिफिकेट : एडमिशन के वक्त कुछ स्कूल हेल्थ सर्टिफिकेट भी मांगते हैं। ताकि वह यह पता लगा सके कि बच्चे हेल्दी है या नहीं। यदि कोई बीमारी है या इलाज चल रहा है तो उसकी जानकारी भी उन्हें इस से मिल जाती है।

रेजिडेंट प्रूफ : रेजिडेंट प्रूफ के जरिए स्कूल मैनेजमेंट यह जानकारी लेता है कि पैरंट्स स्कूल से कितनी दूरी पर रहते हैं। रेजिडेंट प्रूफ में वोटर आई कार्ड , पासपोर्ट , ड्रॉइविंग लाइसेंस , आधार कार्ड , बिजली का बिल या टेलिफोन बिल हो सकते हैं।

आईडी प्रूफ : आईडी प्रूफ से पैरंट्स की पहचान साबित होती है। इसमें पैरंट्स को अपने साथ पैन कार्ड , पासपोर्ट , ड्रॉइविंग लाइसेंस को रखना चाहिए।

इनकम टैक्स रिटर्न : हर पैरंट्स चाहता है कि उनका बच्चा अच्छे स्कूल में पढ़े। इन स्कूल की फीस भी ज्यादा होती है। लिहाजा कुछ स्कूल मैनेजमेंट पैरंट्स की इनकम जानने के लिए इनकम रिटर्न भी मांगते है। इससे स्कूल मैनेजमेंट पैरंट्स के आथिर्क पक्ष को जानते हैं।

पैरंट्स क्वॉलिफिकेशन प्रूफ : ऐसा नहीं है कि बेस्ट स्कूल में यदि बच्चा पढ़ रहा है तो वह काबिल बन जाएगा। इसके लिए पैरंट्स को भी जागरूक होना पड़ता है। इसलिए कुछ स्कूल मैनेजमेंट पैरंट्स की क्वॉलिफिकेशन को भी एडमिशन के समय जरूरी मापदंड मानकर चलते हैं। वह इंटरव्यू के वक्त पैरंट्स की क्वालिफिकेशन का प्रूफ भी मांगते हैं। ताकि उनकी एजुकेशन लेवल का पता चल सके।

नर्सरी में एडमिशन के लिए मुख्य रूप से बर्थ सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ती है। नर्सरी में बहुत छोटे बच्चे होते हैं। उस वक्त उनकी सही एज जानने के लिए यह डॉक्युमेंट चाहिए। इसलिए जब पैरंट्स एडमिशन के लिए आते हैं तब उनसे यही कहा जाता है कि वह रजिस्टेशन फॉर्म के साथ बर्थ सटिर्फिकेट जरूर लगाएं। इसके अलावा बच्चे और पैरंट्स की फोटो मांगी जाती है।

– प्रिया ढल , प्रिंसिपल डीडीपीएस अशोक नगर

स्कूल में एडमिशन के वक्त विशेष रूप से बर्थ सर्टिफिकेट और घर का एडेस प्रूफ मांगा जाता है। एडेस प्रूफ में पैरंट्स वोटर आई कार्ड , पासपोर्ट , बीएसएनल या बिजली का बिल भी दे सकते हैं। यह सब इसलिए मांगा जाता है क्योंकि पैरंट्स स्कूल से कितने दूर रहते हैं का पता चल सके। इसके अलावा बच्चे व पैरंट्स की फोटो। बाकी किसी और डॉक्यूमेंट की जरूरत नहीं होती।

– सुभाष जैन , डायरेक्टर , सिल्वर लाइन स्कूल

Leave a Reply