Monday, September 6, 2021

बिजली को लेकर सरकार ने कहा ऑल इज़ वेल

resizedimage (37)लखनऊ।।(डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क)।। यूपी में बिजली के संकट को सरकार ने खारिज किया है। विपक्ष का आरोप है कि सरकार ने एक 11 महीने में बिजली की कोई परियोजना नहीं लगाई तो सरकार दलील दे रही है कि बिजली तो सभी को मिल रही है। यूपी सरकार भले ही बजट पेश कर विकास का सपना दिखा रही है लेकिन विपक्ष बिजली और पानी को लेकर ही हंगामा कर रहा है। प्रदेश में बीते 6 सालों में 26 बिजली की परियोजनाओं की घोषणा हुई लेकिन सरकार की माने तो एक भी बिजली की परियोजनाएं पूरी नहीं हुई। जिसकों लेकर सरकार पूर्ववर्ती बीएसपी सरकार पर ठीकरा फोड़ रही है तो विपक्ष सरकार से एक साल में बिजली पैदा करने का लेखा जोखा मांग रहा है। बीजेपी नेताओं ने भी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए अधर में लटकी बिजली की परियोजनाओं का ब्योरा मांगा है साथ ही ये भी पूछा है कि सरकार की बिजली को लेकर नई योजना क्या है।

 

सरकार की दलील है कि प्रदेश में 8 हजार 6 सौ तैतीस मेगा वाट बिजली पैदा हो रही है, प्रदेश में बिजली की कमी नहीं है। लेकिन सरकार ये बताने में नाकाम है कि जब बिजली की कमी नहीं है तो फिर गांव देहात में 15 घंटे की बिजली कटौती क्यों हो रही है। शिवपाल सिंह यादव ने बिजली की किल्लत को दूर करने के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत बता रहे हैं तो सरकार के ही दूसरे मंत्री कुछ और दलीलें दे रहे हैं। सवाल बिजली पैदा करने का नहीं है असली मुद्दा है राजधानी के चमक दमक से दूर गांवों में सरकार कितने घंटे बिजली दे रही है। सरकार का ही दावा है कि भरपूर बिजली मिल रही है लेकिन हकीकत क्या है इसे गांव-देहात की जनता जानती है।

 

 

 

 

Leave a Reply