Friday, September 3, 2021

मार्शल आर्ट सरल है, डरें नहीं, डराएंः जूही सिंह

13अभिषेक यादव के प्रशिक्षण शिवर में बाल आयोग की जूही सिंह और इंस्पेक्टर सत्या सिंह ने भी छात्राओं के मनोबल को बढ़ाने के लिए सीखे मार्शल आर्ट।

लखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन) ।। यूपी सरकार में बाल अधिकार संरक्षण आयोग (बाल आयोग) की अध्यक्ष भी अभिषेक यादव के मार्शल आर्ट को जरूरी मानती हैं। उन्होंने बताया कि यह सेल्फ डिफेंस तकनीकि बहुत अहम है। लड़कियों को ही नहीं, टीचरों और घरेलू महिलाओं को भी इसे सीखना चाहिए।

राजधानी लखनऊ में बढ़ती छेड़खानी की घटनाओं को देखते हुए छात्राएं शोहदों से बचने के लिए सेल्‍फ डिफेंस की ट्रेनिंग ले रही हैं। इसके लिए मंगलवार को करामत हुसैन गर्ल्स इंटर कॉलेज में तीन दि‍वसीय सेल्‍फ डि‍फेंस ट्रेनिंग का शुभारंभ कि‍या गया। शिविर का उद्घाटन बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह और सत्या सिंह (इंस्पेक्टर पुलिस महिला सम्मान प्रकोष्ठ) ने कि‍या। पहले दिन इमेज क्रिएशन एंड वेलफेयर सोसाइटी और फेवर फाउंडेशन की ओर से कॉलेज के एक हजार से भी अधिक छात्राओं ने भाग लिया। साथ ही आत्मरक्षा की तकनीकियों को बारीकी से सीIMG-20150512-WA0041खा था।

ट्रेनिंग के दौरान आत्मरक्षा के गुणों और तकनीकियों के जानकार मार्शल आर्ट्स विशेषज्ञ अभिषेक यादव ने बताया कि यहां पर छात्राओं को अपने आप को शारीरिक रूप से फिट रखने और राह चलते हुए होने वाली छेड़छाड़ से निपटने में काम आने वाली तकनीकें सिखाई जा रही हैं। वहीं, इस शिविर में सत्या सिंह ने खुद भी प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया। साथ ही स्कूल की लड़कियों की झिझक को दूर करते हुए उन्होंने खुद दांव-पेंच बताए।
—————
अभिषेक यादव जिस सरल और सहज तरीके से ट्रेनिंग देते हैं वह किसी के लिए जरूरी है। लड़कियां या महिलाएं इस तरह मनचलों और बदमाशों को भगा सकती हैं। वह उनसे डरें नहीं बल्कि ऐसे हालात पैदा कर दें कि वह खुद ही डर जाए।

जूही सिंह, अध्यक्ष, बाल आयोग, यूपी सरकार

फोटोः लखनऊ के करामत हुसैन गर्ल्स इंटर कॉलेज में तीन दि‍वसीय सेल्‍फ डि‍फेंस ट्रेनिंग के दौरान जूही सिंह और छात्राएं मार्शल आर्ट सीखती हुईं।