Monday, September 6, 2021

मौका चूके तो जानते हो क्या होगा-मुलायम

resizedimage (1)लखनऊ।। लोकसभा चुनाव से पहले शुक्रवार को मुलायम ने दर्जा प्राप्त मंत्रियों की लखनऊ पार्टी कार्यालय में जमकर क्लास ली। बैठक में अखिलेश और मुलायम दोनों ने उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाने का आदेश दिया है। जिससे लोकसभा में मुलायम की लाज बच सके। आगामी लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह को सबसे अधिक डर है कि कहीं पार्टी नेताओं में उभर कर सामने आ रहा आपसी मतभेद ही उनके लिए सबसे बड़ा ख़तरा न बन जाए। यही वजह है कि मुलायम सिंह और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दर्जा प्राप्त मंत्रियों को आपसी मतभेदों को भुलाकर चुनावी समर के लिए तैयार होने को कहा।

 अध्यापक से नेता बने मुलायम सिंह जानते हैं कि कैसे चुनाव में मंत्रियों नेताओं को गुरूमंत्र दिया जाता है। यही वजह है कि मुलायम सिंह न केवल पार्टी को जिताने के लिए एक जुट होने की अपील कर रहे हैं बल्कि यह भी कह रहे हैं कि यह समय ख्वाब को हकीकत में बदलने का है। मन से है मुलायम इरादों से हैं कठोर के स्लोगन के जरिए चुनावी तैयारियों में जुटी समाजवादी पार्टी के नेताओं को आज मुलायम का कठोर दिल भी दिखा, जिसमें मुलायम ने दर्जा प्राप्त मंत्री से दो टूक साफ कर दिया की पार्टी जहां आपसी मतभेदों की वजह से लोकसभा में हारेगी वहा के दर्जा प्राप्त मंत्री जी की छुट्टी कर दी जाएगी। मतलब और मकसद दोनों साफ थे के इस बार अगर मुलायम मौका चूके तो प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब, ख्वाब ही रह जाएगा।

 दर्ज प्राप्त मंत्री राजा चतुर्वेदी कहते हैं कि मंत्रीयों की बैठक में सीएम अखिलेश ने भी पिता के सपने को साकार करने के लिए मंत्र दिए हैं और कहा है कि सभी दर्जा प्राप्त मंत्री सरकार के अच्छे कामों की फेहरिस्त तैयार कर जनता के बीच जाएं। मतदाता लिस्ट तैयार करें और एक एक मतदाता तक अपनी पहुंच बना पार्टी और सरकार के अच्छे कामों को बताए जिससे विधानसभा की जीत न सही कम से कम 2009 के लोकसभा के परिणाम से ज्यादा सीटें तो लायी ही जा सकें। लेकिन अहम यह भी है कि मुलायम से लेकर सीएम तक दर्जा प्राप्त मंत्रियों की क्लास में ये नहीं बताया की यूपी में गुड़ागर्दी कैसे रुके और मंत्रियों का आचरण कैसे सुधरे।

 

Leave a Reply