Tuesday, September 7, 2021

युवा सीएम ने एक और मिशन को दी हरी झंडी

यूपी में अब सरकार ने एक नई पहल शुरू की है। गांव देहात में पढ़ने वाले बच्चों को भी विज्ञान और गणित की शिक्षा मिलेगी ।

resizedimage (3)लखनऊ ।। (अखिलेश कृष्ण मोहन) विज्ञान और गणित का संदेश देने निकले दो बैनों को मुख्यमंत्री ने हरी झंडी क्या दी आविष्कार के नौनिहालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। जी हां 26 जनवरी का दिन यूपी के लिए कई मायनों में खास रहा। मुख्यमंत्री ने इंटेल के सहयोग से दो बसों को विज्ञान और गणित में रुचि जगाने के लिए हरी झंडी देकर रवाना किया, वहीं प्रदेश के कई छात्रों को विज्ञान में आविष्कार के लिए पुरस्कार भी बांटे। आविष्कार के नौनिहालों में कई बच्चों की दास्तान को देखकर आप हैरान रह जाएंगे। फैजाबाद का अजीत कुमार साइकिल से बिजली बनाकर घर को रौशन कर रहा है लेकिन उसका दर्द है कि उसके गांव आज भी बिजली नहीं है। आविष्कार के नौनिहालों में झांसी से आए एक छात्र की दास्तान तो ऐसी है कि उसके पिता को आविष्कार के लिए मुलायम सिंह ने पुरस्कार दिया था तो उसे मुलायम सिंह के बेटे अखिलेश यादव पुरस्कार दे रहे है। झांसी से आए इस छात्र ने मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर होने वाले हादसों को रोकने के लिए एक अविष्कार किया जिससे रेलवे विभाग हर माहीने करोड़ों रुपए बचा सकता है और हादसों पर लगाम लग सकती है। सरकार की दलील ये भी है कि बच्चों को विज्ञान और गणित की शिक्षा देने के लिए शिक्षकों की कमी है ऐसे में कंप्यूटर से इस कमी को पूरा किया जा सकता है। लेकिन सवाल ये भी है कि बच्चों की लगन और प्रतिभा को देखते हुए सरकार की नई मुहिम तो बेहतर है लेकिन जरूरत इस बात की है कि गांव देहात के बच्चों को कम्प्यूटर की शिक्षा देने के मिशन से निकला ये वैन कहीं अपने मिशन से भटक तो नहीं जाएगा।(एजेंसी)

 

Leave a Reply