Tuesday, September 7, 2021

यूपी का बजट जनता के लिए राहत

08लखनऊ।।(डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क)।। यूपी सरकार के बजट को लेकर विपक्ष भले ही आरोप प्रत्यारोप लगा रहा है लेकिन जनता के उपर अतिरिक्त कर का बोझ न पड़ना राहत की बात है। जरूरत है तो बस बजट के पैसों को विकास में लगाने की । क्यों कि जनता को तो विकास चाहिए। यूपी सरकार के बजट को लेकर विपक्ष भले ही कई सवाल उठा रहा है लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विपक्ष के आरोपों को अनसुना करते हुए कई घोषणाएं की हैं। मसलन जहां पिछला बजट दो लाख करोड़ के करीब था वहीं इस बार बजट लगभग 10 फीसदी अधिक दो लाख 21 हजार करोड़ रुपए से अधिक है। सरकार किसानों का दिल जीतने के लिए गन्ना के बकाए का जल्द भुगतान का वादा कर रही है तो वहीं, चीनी उद्योगनीति को बेहतर बनाकर सरकार किसानों के दर्द पर मरहम लगाना चाहती है। सरकार का दावा है कि सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में छात्राओं को मुफ्त शिक्षा देगी।

 

यूपी सरकार लखनऊ में भी मैट्रो रेल दौड़ाना चाहती है। लेकिन देश का सबसे विश्वसनीय पब्लिक ट्रॉसपोर्ट सिस्टम कब तक विकसित होगा इसको लेकर कोई दावा नहीं किया गया है । बजट में आगरा से लखनऊ तक एक नये 8 लेन एक्सेस कन्ट्रोल्ड ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के निर्माण का फैसला सरकार ने किया है।

सरकार शिक्षा के विस्तार एवं गुणवत्ता में सुधार की योजनाओं के लिए भी बत्तीस हजार करोड़ खर्च करेगी। कुल मिलाकर सरकार दावे तो कर रही है लेकिन काम पूरा कितने समय में होगा और बजट खर्च होगा या नहीं इसका जवाब मिलना अभी बाकी है। बजट में कर बढ़ोतरी न होने से जनता को रहत तो मिली है फिर भी विपक्ष पूरे बजट को लेकर सवाल खड़ा कर रहा है। अब सवाल ये है कि क्या आने वाले समय में सरकार भारी भरकम बजट को खर्च कर विकास कर पाएगी या बजट की घोषणाएं सिर्फ कागजों में ही दर्ज रहेंगी।(रीता)

 

Leave a Reply