Sunday, September 5, 2021

लिस्ट मांगकर दुविधा में फंसी यूपी सरकार

resizedimage (2)लखनऊ।। डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।। मुज़फ़्फ़रनगर दंगे के आरोपियों की लिस्ट मांगकर यूपी सरकार ने एक और मुद्दे को पैदा कर दिया है। लेकिन सीएम का कहना कुछ और ही है । हकीकत में सरकार समय टोल को लेकर दबंगों की गुंडई और मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगी गाड़ियों को अचानक कम करने को लेकर भी जवाब देने से बच रही है मुजफ्फरनगर दंगे के आरोपियों की लिस्ट मांगने के बाद एक बार फिर मुख्यमंत्री को सफाई देनी पड़ रही है।

हकीकत तो यह है कि मुज़फ़्फ़रनगर दंगे में जिन लोगों पर केस दर्ज किए गए हैं उनपर से केस वापस लेने को लेकर यूपी सरकार असमंजश में है। पहले सरकार ने दंगा मामले में दर्ज लोगों की लिस्ट मांगी थी और अब मुख्यमंत्री का कहना है कि सरकार ने केवल जानकारी मांगी है दिल्ली के मुख्यमंत्री केजवरीवाल की सुरक्षा में कटौती के बाद यूपी के सीम ने भी सुरक्षा की कुछ गाड़ियों को हटा दिया है। लेकिन मुख्यमंत्री की सुरक्षा में कटौती क्यों की गई के सवाल पर सीएम अखिलेश का कहना है कि यह सुरक्षा पद पर बैठे लोगों की है और जिन गाड़ियों को वापस किया गया है वो गाड़ियां पुरानी थीं। यूपी में टोल प्लाजा पर आए दिन हो रही मारपीट को लेकर सीम का कहना है कि जो ऐसी हरकतें कर रहें हैं उन पर कार्रवाई होगी। सड़कों पर टोल से लेकर मुज़फ़्फ़रनगर दंगा मामले में हर मुद्दे पर सरकार को जवाब देना पड़ रहा है। लेकिन असल मुद्दा तो ये है कि कहीं पर भी कार्रवाई नजर नहीं आ रही।

Leave a Reply