Monday, September 6, 2021

विधानसभा को दोहराना चाहते हैं मुलायम सिंह

resizedimage (5)लखनऊ।।डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।। कुश्ती के साथ-साथ सियासत के दावपेंच में माहिर मुलायम सिंह लोकसभा चुनाव में किसी भी कीमत पर मात खाना नहीं चाहते, यही वजह है कि मुलायम सिंह 2012 के विधानसभा चुनाव में सरकार की असली पिक्चर बनाने वाले विधायकों की अलग से बैठक कर लोकसभा चुनाव के वास्तविक हालात का जायजा ले रहे हैं। समाजवादी पार्टी की साइकिल भले ही विधानसभा की जमीन पर बाजी मार ली है, लेकिन लोकसभा में वही मतदाता किसे वोट करेंगे इसे लेकर सपा मुखिया मुलायम सिंह बेचैन हैं। शनिवार को उम्मीदवारों और बाकी नेताओं की जमीनी हकीकत जानने के लिए सपा प्रदेश कार्यालय पर हुए मंथन बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। बैठक में विधायकों और विधान परिषद के सदष्यों को ही बुलाया गया था । मंत्री और लोकसभा उम्मीदवारों को बैठक में न बुलाकर मुलायम सिंह ने ये संकेत भी दिया कि वो उस पिक्चर को हर हाल में बनाना चाहते हैं जो उनके जिंदगी का सपना रहा है। विधायकों के साथ समीक्षा बैठक में वास्तविक तस्वीर जानने के लिए व्याकुल मुलायम सिंह जिताऊं उम्मीदवार को लेकर लोगों की राय ली, और प्रभावी क़दम उठाने के संकेत भी दिए । सूत्रों की माने तो कुछ लोकसभा उम्मीदवारों के नामों में फेर बदल भी होगा, लेकिन ऐसा कबतक होगा इस पर कोई कुछ भी बोलना नहीं चाहता। पार्टी की जमीन की समीक्षा कर रहे मुलायम सिंह जानते हैं कि वोट बैंक किसी की जागीर नहीं है। बल्कि विधानसभा के वोटों को सहेजना भी समाजवादी पार्टी के लिए एक चुनौती है। यही वजह है कि मुलायम सिंह अब विधायकों के साथ मंथन कर एक नई रणनीति के साथ मैदान पर उतरना चाहते हैं। 2012 के विधानसभा चुनाव में जादुई असर दिखाने वाले विधायकों के कंधों पर जिम्मेदारी देकर मुलायम सिंह लोकसभा में भी साइकिल की रफ्तार को तेज करना चाहते हैं।

 

 

Leave a Reply