Monday, September 6, 2021

‘सियासतबाजों ने दंगा पीड़ितों को भी नहीं छोड़ा’

resizedimageलखनऊ।। डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।।  मुज़फ़्फ़रनगर और शामली के दंगा प्रभावित इलाकों के साथ-साथ राहत शिवरों का दौरा कर लखनऊ आईं राम मनोहर लोहिया लीग की पूर्व अध्यक्ष सुजैन आनंद ने कहा कि सियासत करनेवालों ने दंगा पीड़ितों को भी नहीं बख्शा। सुजैन का कहना है कि हकीकत में शिविरों में दंगा पीड़ित नहीं रह रहे हैं बल्कि जो रह रहे हैं उनके इलाकों में दंगा हुआ ही नहीं है। जिस इलाकों के लोग शिविर में वास्तव में रह रहे थे उन्हें मुआवजा देकर या उचित राहत सामाग्री देकर वापस गांव भेज दिया गया लेकिन सियासत करनेवालों ने लोगों को बरगला कर दूसरे इलाकों के लोगों को शिविर में मजबूरी में लाकर रखा है जिससे मीडिया सरकार के खिलाफ ख़बर दिखाए और समाजवादी पार्टी के वोट बैंक को अपनी तरफ खींचा जा सके। 

बीते 20 साल से सामाजिक सेवा कर रही सुजैन आनंद राम मनोहर लोहिया लीग की अध्यक्ष रहीं हैं और समाजवादी पार्टी की दिल्ली प्रदेश की महिला विंग की तेज तर्रार नेता मानी जाती हैं। सही मायने में बुंदेलखंड को बसपा का गढ़ माना जाता है लेकिन सुजैन आनंद की मेहनत का ही नतीजा था कि यहां समाजवादी पार्टी को बीते विधानसभा चुनाव में पांच विधानसभा सीटें मिलीं। बुंदेलखंड में पांच सीटों पर जीत के लिए कितना समय दिया के सवाल पर सुजैन कहती हैं कि छह महीने से अधिक समय तक मैं अपने घर दिल्ली नहीं जा पाई, इससे समझा जा सकता है कि हम पार्टी और वहां के लोगों के लिए हमने कितनी ललक थी। सुजैन आनंद कहती हैं कि इकलौती बेटी की इंटर की परीक्षा होने के बाद भी हमने पार्टी की जीत को ही अपना उद्देश्य बना लिया था। आम जनता के बीच रहने वाली सुजैन एनजीओ भी चलाती हैं और कहतीं हैं कि मुख्यमंत्री ने जनता की आवाज को सुनी है वहां विकास हो रहा है लेकिन अभी हमें बहुत कुछ करना बाकी है।   

Leave a Reply