Sunday, September 5, 2021

स्पीकर ने खड़े किए हाथ कैसे होगी कार्रवाई !

Mata-Prasad-Pandeyलखनऊ।। डीडीसी न्यूज़ नेटवर्क।। यूपी विधानसभा में विधायकों के अर्धनग्न होने के मुद्दे पर कार्रवाई होना मुश्किल है। विधानसभा स्पीकर ने भले ही मामले के लिए जांच समिति गठित कर दी है लेकिन उन्होंने राज्यपाल के अभिषण का हिस्सा होने का हवाला देते हुए कार्रवाई को लेकर हाथ खड़ा कर दिया है। सूत्रों की मानें तो सरकार भी लोकसभा चुनाव को देखते हुए कार्रवाई कर इसे मुद्दा बनाने से बच रही है।  

यूपी विधानसभा में नेताओं के अर्धनग्न होने का मुद्दा सदन से लेकर सड़क तक गर्म है। आम आदमी सदन की गरिमा पर सवाल उठ रहे हैं तो वहीं विधानसभा स्पीकर माता प्रसाद पाण्डेय का कहना है कि राज्यपाल का अभिभाषण सदन की कार्रवाई में नहीं आती लिहाजा कानूनी सलाह ली जा रही है । विधानसभा अध्यक्ष का कहना है कि इसे नजीर नहीं बनने दिया जाएगा और सदन में विधायकों की गलत हरकत पर कार्रवाई जरूरी है।

अपना दल की विधायक अनुप्रिया पटेल ने विधानसभा अध्यक्ष को एक चिट्ठी सौपी है। सदन में विधायकों के अर्धनग्न होने को लेकर शिकायत करने पहुंची अनुप्रिया का कहना है कि सदन में 35 महिला विधायक हैं ऐसे में महिलाओं के सामने ही विधायकों ने अर्धनग्न होकर सदन और लोकतंत्र दोनों का ही अपमान किया है।

राष्ट्रीय लोकदल के विधायकों के सदन में कपड़ा उतारने और प्रदर्शन को लेकर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी दोनों ही दलों के नेताओं का मत एक सा है। उनका कहना है कि यह गलत था सदन की गरिमा को ध्यान देना चाहिए था। सदन में नेताओं के गैरमर्यादित आचरण को लेकर भले ही विधानसभा स्पीकर कार्रवाई का आश्वासन दे रहे हैं लेकिन वास्तव में यह केवल दिखावा है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए सरकार भी नहीं चाहती कि विधायकों पर कार्रवाई हो और इसका फायदा दूसरी पार्टियों को लोकसभा में मिले।

 

Leave a Reply