Sunday, September 5, 2021

CM अखिलेश यादव युवाओं को देंगे नए साल पर तोहफा

लखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन)।। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश के युवाओं को नए साल का तोहफा देने का मन बना लिया है। इसलिए अब यूपी में नौकरियों की बहार आ सकती है। मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में नौकरियों के लिए बड़े फैसले लिए गए। बैठक में पुलिसकर्मियों और सफाईकर्मियों को मिलाकर कुल 75 हजार स्‍थाई और अस्‍थाई नौकरी देने का फैसला लिया गया है।

सरकार ने 35 हजार पुलिसकर्मियों की भर्ती करने का एलान किया है। इसके अलावा 40 हजार सफाईकर्मियों की संविदा पर नियुक्ति किया जाएगा। साथ ही 100 जीआईसी खोलना, गोरखपुर में कुश्ती हाल और एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान का निर्माण किया जाएगा। यही नहीं, बैठक में कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई है।

बैठक के दौरान कई महत्वपूर्ण प्रस्ताव जिनमे पीएसी कर्मचारियों के लिए टैक्स रहित कैंटीन, भारतेंदु नाट्य अकादमी, अयोध्या शोध संस्थान के कर्मियों और राज्य ललित कला अकादमी के कर्मियों की रिटायरमेंट ऐज 60 साल करना और बुंदेलखंड मे ब्लास्ट वेल योजना चलाने को मंजूरी दे दी गई है। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बहुजन समाज पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन पर कोई बात नहीं करनी है। मुख्यमंत्री ने जीएसटी बिल पर बीएसपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बीएसपी को जीएसटी बिल के बारे में पता ही नहीं और वह उसका सपोर्ट करने की बात कर रही है। हमारी पार्टी इस बिल का अध्यान करने के बाद ही फैसला लेगी। व्यापारी इसका विरोध कर रहे हैं। इससे प्रदेश सरकार के राजस्व पर असर पड़ेगा। बिना सोचे समझे जीएसटी बिल का सपोर्ट नहीं करेंगे, इससे राज्य सरकार और व्यापारियों का नुकसान है।

केंद्र सरकार पर हमला करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक सरकार को ओलावृष्टि से हुए नुकसान का पैसा भी नहीं मिला है और अब सूखे, अकाल से हालात बिगड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बाबत केंद्र सरकार को कई पत्र लिखे गए हैं, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। सांसदों को इस बारे में पात्र लिखेंगे, ताकि सांसद इस मुद्दे को शीतकालीन सत्र के दौरान संसद में उठाएं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी सरकार धार्मिक स्थलों पर बेहतर सुविधा देने के लिए प्रयासरत है। धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो और उन्हें दर्शन करने में कोई दिक्कत न आये इस दिशा में प्रयास किये जा रहे हैं। गन्ना किसानों पर बलते हुए उन्होंने कहा कि चीनी मिल बंद नहीं होंगी और गन्ना किसानों को जल्द ही भुगतान किया जाएगा।

फोटोः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।