Saturday, August 28, 2021

खबर का असरः सीएम ने किया हीरालाल को फोन, कहा डीएम ने किया गलत

cm ke sath hiralal yadav

सीएम अखिलेश यादव ने दैनिक दुनिया डॉटकाम की ख़बर को गंभीरता से लिया है। उन्होंने देर रात करीब साढ़े नौ बजे साइक्लिस्ट हीरालाल यादव को खुद फोन कर बात की और फैजाबाद के डीएम योगेश्वर राम मिश्र की हरकत को लेकर कहा कि पूरा मामला संज्ञान में है। जिलाधिकारी ने जो किया वह ठीक नहीं है। सीएम ने हीरालाल को हर मदद का भरोसा दिया है।

दैनिक दुनिया डॉटकाम ने शनिवार को प्रकाशित की थी ये ख़बर।

सीएम ने दिया सम्मान तो डीएम ने किया अपमानित, यहां पढ़िए फैजाबाद के डीएम की करतूत

 

फैजाबाद/लखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन)।। कई देशों में पर्यावरण संरक्षण और पौधारोपण का संदेश देने के लिए साइकिल से यात्रा कर चुके अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट हीरालाल यादव को समाजवादी पार्टी की सरकार में फैजाबाद में अपमानित होना पड़ा है। यहां पर सफाई अभियान चलाने और लोगों को जागरुक करने के लिए पहुंचे हीरालाल को जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने न केवल घंटों आवास के बाहर बैठाया, बल्कि उन्हें रुकने के लिए तीन रात के लिए सिंचाई विभाग का जो गेस्ट हाउस दिलाया उसका पेमेंट भी साइक्लिस्ट को ही करने पर मजबूर किया गया। यही नहीं, उन्हें वहां रहने के दौरान खाने पीने का खर्च भी उठाना पड़ा है। जिलाधिकारी की उदासीनता से परेशान होकर हीरालाल यादव को सफाई अभियान रोक देना पड़ा है।

dimpal yadav ke sath
कन्नौज सांसद डिम्पल यादव ने कन्या भ्रूण हत्या रोकने को लेकर काम करनेवाले हीरालाल यादव की पुस्तक को काफी सराहा है।

दैनिक दुनिया डॉटकाम ने जब इसको लेकर फैजाबाद के जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र दो बार बात करनी चाही, तो उनके स्टेनों ने उनके आराम करने की बात कहकर बाद में बात कराने का भरोसा दिया, लेकिन मस्ती के आलम में चूर फैजाबाद के जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र बात करने के लिए समय नहीं निकाल पाए। हीरालाल यादव को पहली बार इस तरह से अपमानित होना पड़ा है। साइक्लिस्ट हीरालाल ने फिलहाल फैजाबाद को छोड़ दिया है। वह अब बाराबंकी में इस अभियान को चलाएंगे और लोगों को क्लीन यूपी ग्रीन यूपी का संदेश देंगे।

kalam final
अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट हीरालाल यादव को सम्मानित करते हुए पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम।

फैजाबाद के जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र की प्रशासनिक लापरवाही इस कदर देखने को मिली कि उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट की उपलब्धियां भी नहीं देखीं। जब कि हीरालाल को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और यूपी के राज्यपाल राम नाईक तक सम्मानित कर चुके हैं। हीरालाल को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने आवास पर ही हाल ही में सम्मानित किया है। उन्होंने इसके पहले हरी झंडी दिखाकर पूरे प्रदेश में साइक्लि से पर्यावरण संरक्षण और पैधारोपण का संदेश देने के लिए हीरालाल यादव को रवाना किया था। यही नहीं इसके पहले बुलंदशहर की जिलाधिकारी बी. चंद्रकला भी उनके पौधारोपण प्रोग्राम को लेकर कार्यक्रम कर चुकी हैं। उन्होंने भी हीरालाल यादव को सम्मानित किया था।                                  

पुस्तक बेंचकर चलाएंगे सफाई अभियान

ramnaik ke sath
यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट और पर्यावरण संरक्षक के हाथों राजभवन में पौधारोपण करवा कर उन्हें सम्मानित किया।

दैनिक दुनिया डॉटकाम से बातचीत में अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट और पर्यावरण संरक्षक हीरालाल ने बताया कि वह यूपी में अपनी किताब को बेंचकर इस अभियान को चलाएंगे। 59 साल के हीरालाल समाजशास्त्र से ग्रेजुएट हैं। वह मूलतः गोरखपुर के रहने वाले हैं। वह 2010 से पेड़ लगाओ अभियान चला रहे हैं। 1997 में लोगों को पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए साइकिल से ही पेड़ लगाने का संदेश देने निकले हीरालाल यादव को यूपी में ही फैजाबाद के जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्रा की उदासीनता का शिकार होना पड़ा है।

डीएम खेलते रहे होली, नहीं ली सुध

मुख्यमंत्री के क्लीन यूपी ग्रीन यूपी का संदेश लेकर निकलने के बाद भी जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र हीरालाल की सुध लेने की वजाय होली में ही तीन दिन मस्त रहे। यहां तक कि जब पत्रकारों ने इसके बारे में बात करनी चाही तो उन्होंने बात नहीं की। उनके स्टेनों ने फोन कर हीरालाल यादव से कहा कि वह कुछ भी करें लेकिन उन्हें होटल का बिल देना पड़ेगा। जिलाधिकारी के नकारेपन और करतूत की वजह से हीरालाल यादव अब बाराबंकी में यह अभियान चलाने जा रहे हैं। उन्होंने फैजाबाद छोड़ दिया है।

नोटः अंतर्राष्ट्रीय साइक्लिस्ट और पर्यावरण संरक्षक हीरालाल यादव से मोबाइल नंबर-945215-2950 पर संपर्क किया जा सकता है।

फोटोः फाइल।