Friday, September 3, 2021

अम्मा-दीदी की जीत से भइय्या हुए मस्त, बुआ पस्त

AKFखुश हैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, यूपी में तीन दशक बाद हो सकता है बड़ा संयोग, रिपीट हो सकती है सपा सरकार

अखिलेश कृष्ण मोहन
अखिलेश कृष्ण मोहन

लखनऊ ।। यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इन दिनों पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में सरकार की वापसी होने को लेकर काफी खुश हैं। कहा तो यहां तक जा रहा है कि मुख्यमंत्री इसकी चर्चा भी लोगों से कर रहे हैं कि यदि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी (दीदी) और तमिलनाडु में जयललिता (अम्मा) की सरकार वापस आ सकती है, तो यूपी में ऐसा क्यों नहीं हो सकता है? भइय्या अखिलेश यादव इसे न केवल सकारात्मक संकेत मान रहे हैं, बल्कि यूपी में सरकार वापसी को लेकर लोगों को सही ढंग से काम करने के निर्देश देने भी शुरू कर दिए हैं। वहीं, दूसरी ओर सूत्रों के अनुसार इन दोनों ही राज्यों के चुनाव परिणामों से बुआ मायावती की चिंताएं बढ़ा दी है।

वैसे तो यूपी में पिछले तीन दशक से उत्तर प्रदेश में कोई सरकार रिपीट नहीं हुई है, लेकिन अखिलेश यादव के कार्यों को लेकर अब समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं में भी अब उम्मीद बधने लगी है कि सरकार आगामी विधानसभा चुनाव में वापसी कर सकती है। मुख्यमंत्री की सक्रियता भी पिछले छह महीने से काफी बढ़ी हुई है। वह हर समय लोगों से मिलने के लिए तैयार रहते हैं। इस सप्ताह हाल तो यह है कि मुख्यमंत्री ने लगातार चार दिन तक अपने सरकारी आवास पर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इस दौरान मुलाकात करने वालों का यह भी कहना है कि मुख्यमंत्री साहब काफी खुश हैं।

यूपी में साढ़े चार साल में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जो काम किया है। उसका प्रचार-प्रसार और कुछ योजनाओं का उद्घाटन भी यदि ठीक से हो जाए, तो जनता में इसका सही संकेत जा सकता है। लेकिन नाम न लिखने की शर्त पर समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर पार्टी के ही नेता कहते हैं कि अधिकारी मुख्यमंत्री की चिट्ठी तक को नजर अंदाज कर रहे हैं। यहां तक कि उच्च अधिकारियों के आदेश को भी निचले दर्जे के अधिकारी और बाबू तक नहीं मानते हैं। फाइलें कब गायब हो जाएंगी और कब सबसे नीचे पहुंच जाएंगी, इसे कोई नहीं जानता। यह सरकार के लिए ठीक नहीं है। आम आदमी परेशान होकर लखनऊ और गांव के चक्कर लगा रहा है और अधिकारी मस्ती कर रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले तीन दशक से यूपी में कोई भी सरकार रिपीट नहीं कर पाई है। इसको लेकर यह कहा जा रहा है कि यदि सपा सरकार रिपीट करती है तो यह अपने आप में मुख्यमंत्री और समाजवादी सरकार की बड़ी उपलब्धि होगी।

फोटोः फाइल।