Sunday, August 29, 2021

अंबिका चौधरी बन सकते हैं समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता

ambika (1)लखनऊ ।। यूपी विधानसभा चुनाव को देखते हुए समाजवादी पार्टी में काफी समय से प्रवक्ता की अहम जिम्मेदारी अकेले संभाल रहे राजेंद्र चौधरी के साथ ही अंबिका चौधरी को भी दी जा सकती है। वह न केवल मीडिया फ्रेंडली हैं, बल्कि संसदीय मामलों और अन्य मुद्दों पर पकड़ भी उनकी अच्छी है।

मथुरा में बवाल के मुद्दे पर शिवपाल यादव के ऊपर भाजपा के हमले का जवाब देने के लिए अंबिका चौधरी ने रविवार को पार्टी कार्यालय पर पहली बार प्रेस कांफ्रेंस बुलाई थी। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय और प्रदेश अध्यक्ष ने गैरजिम्मेदाराना बयान दिए हैं। जिम्मेदार आदमी को आरोप लगाने के पहले सबूत देना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह प्रदेश (गुजरात) से तड़ी पार किए गए थे। ऐसे दागी नेता का सपा के नेताओं पर अनर्गल आरोप लगाना ठीक नहीं है। यह चुनाव के दौरान विकास के मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा कर रही है।

अखिलेश कृष्ण मोहन
अखिलेश कृष्ण मोहन

यूपी सरकार के पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी ने आगे बताया कि भाजपाई चाचा-भतीजे की बात करते हैं। यह भाजपा की ओछी राजनीति का हिस्सा है। परिवार में किसी व्यक्ति विशेष पर हमला करना राजनीति नहीं है। समाजवादी पार्टी ऐसी राजनीति कभी नहीं करती है। भाजपा को यह साफ करना होगा कि वह अराजकता के पक्ष में हैं या शहीद पुलिसकर्मियों के साथ। समाजवादी पार्टी शहीदों के परिवारवालों के साथ खड़ी है। यूपी में कानून-व्यवस्था पर बोलते हुए अंबिका चौधरी ने कहा कि यहां कानून-व्यवस्था बिलकुल ठीक है। चुनावी वर्ष में यूपी के विकास को भाजपाई पचा नहीं पा रहे हैं। इस लिए वह व्यक्तिगत हमला करने पर तुले हैं।

अंबिका चौधरी को नपे तुले और सटीक बयानों के लिए जाना जाता है। वह संसदीय मामलों के जानकार भी हैं। ऐसे में समाजवादी पार्टी के लिए शुभ संकेत है कि राजेंद्र चौधरी के साथ-साथ अंबिका चौधरी को भी पार्टी प्रवक्ता की जिम्मेदारी सौंपी जाए। राजेंद्र चौधरी की सुस्ती को देखते हुए भी अंबिका के प्रवक्ता बनाए जाने की खबरों को अब बल मिलने लगा है। यूपी चुनाव को देखते हुए कई मुद्दों पर मीडिया को सटीक जानकारी देने के लिए अंबिका को बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।

फोटोः पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी।