Wednesday, September 1, 2021

आयुष्मान भारत से KGMU में नहीं मिला इलाज, डॉक्टर बोले- रुपये नहीं हैं तो सरकार से जाकर इलाज कराओ !

Lucknow. आयुष्मान भारत का कार्ड केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में नहीं चलता है। यहां तो जांच के एवज में शुल्क जमा ही करना पड़ेगा। इसलिए कार्ड जेब में रखो। पैसे न हों तो सरकार के पास जाओ और उन्हीं से इलाज कराओ। शाहजहांपुर के तिलहर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक रोशन लाल वर्मा की सिफारिश पर ट्रॉमा सेंटर आए मरीज के साथ डॉक्टर व कर्मचारियों ने बदसलूकी की। महत्वकांक्षी योजना आयुष्मान भारत का गोल्डन कार्ड जब तीमारदारों ने दिखाया तो योजना के तहत इलाज करने से इनकार कर दिया।

आयुष्मान भारत

परिवारीजनों की गुहार पर विधायक रोशन लाल वर्मा शाहजहांपुर से सोमवार शाम सात बजे ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने विधायक से बात करने से मनाकर दिया। विधायक पीआरओ से मिले। विधायक का आरोप है कि पीआरओ ने नसीहत दी की चुपचाप इलाज कराओ। उच्चाधिकारियों से शिकायत के बाद केजीएमयू के अधिकारियों ने मरीज को भर्ती कराया।

चाचा हरीश का आरोप है कि लंबी जद्दोजहद के बाद मरीज को भर्ती किया। इसके बाद डॉक्टरों की जांच व पंजीकरण आदि की पर्ची थमा दी। हरीश चन्द्र ने बताया कि मरीज बेहद गरीब है। प्रधानमंत्री आयुष्यमान भारत का गोल्डन कार्ड भी है। कार्ड देख डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ भड़क उठे। बोले पर्ची में लिखी दवाएं बाहर के एक मेडिकल स्टोर पर मिलेंगी। वहां से दवा लाओ। उसके बाद परिवारीजनों से मरीज की ड्रेसिंग करने को कहा।

विधायक ने बताया कि शाहजहांपुर निवासी कमलेश (28) बिजली विभाग में संविदा पर काम करता है। 16 अक्तूबर को खंभे पर तार जोड़ रहा था। तार में अचानक करंट आ जाने से कमलेश बुरी तरह जख्मी हो गया। गंभीर रूप से जख्मी कमलेश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने मरीज को केजीएमयू रेफर कर दिया। परिवारीजन सोमवार रात में कमलेश को लेकर ट्रॉमा पहुंचे।

वहीं केजीएमयू के प्रवक्ता ने कहा है कि विधायक रोशन लाल वर्मा के क्षेत्र का बर्न मरीज कल भर्ती हुआ था। जिसे वह देखने आए थे। मौजूदा समय में मरीज गांधी वार्ड में भर्ती है। इलाज में किसी भी तरह की अड़चन नहीं आ रही है।