Monday, September 6, 2021

2019 में BJP को रोकने के लिए भीम आर्मी प्रमुख ने मांगा इस दल से समर्थन !

Lucknow. भीम आर्मी एक सामाजिक संगठन है और सामाजिक कार्य ही करता रहेगा। न तो राजनीति करनी है न ही चुनाव लड़ना है लेकिन हमारा मकसद वर्ष 2019 में भाजपा को सत्ता में नहीं आने देना है। कांग्रेस अगर दलित हितैषी है तो वह मायावती को सपोर्ट करें। उन्होंने अयोध्या में बुद्ध बिहार बनाने की वकालत की। यह बातें भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने कहीं। वह अयोध्या से लौटते हुए बसपा के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद के आवास पर पत्रकारों से बात कर रहे थे।

भीम आर्मी

अयोध्या में बने बुद्ध बिहार

चंद्रशेखर ने कहा कि अयोध्या बुद्ध के प्रमुख स्थलों में शामिल है। इसलिए सरकार को वहां बुद्ध बिहार बनाना चाहिए। अयोध्या नाम बदलने पर उन्होंने कहा कि नाम साकेत किया जाना चाहिए था। हमने कोर्ट में भी इसके लिए याचिका दाखिल की है। चंद्रशेखर ने कहा कि अयोध्या में कुछ राजनीतिक दलों ने माहौल ऐसा कर दिया कि एक तबका डर गया। हम लोग ने वहां पहुंचकर सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से ज्ञापन दिया और संविधान-कानून के अनुसार हर तबके को सुरक्षा देने की मांग की।

भीम आर्मी की राजनीति में उतरने की संभावनाओं को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि मायावती बहुजन समाज की सबसे बड़ी नेता हैं। हमें न तो चुनाव लड़ना है न ही राजनीति पार्टी बनाना है। चंद्रशेखर ने कहा कि हम कांशीराम के मूवमेंट को आगे बढ़ा रहे हैं। मायावती के आरोपों पर उनका कहना था कि बहन जी किसी बात से हमसे नाराज हैं लेकिन यह परिवार का मामला है।

भीम आर्मी पर एक जाति की राजनीति करने के आरोपों पर उन्होंने कहा कि हमारे साथ बहुत बड़ी संख्या में मुस्लिम भी हैं। जो पीड़ित तबका है। अयोध्या में उद्धव ठाकरे के कार्यक्रम पर उन्होंने साफ कहा कि यह केवल एक हथकंडा है। चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अयोध्या में कुछ भी संविधान या कोर्ट के खिलाफ हुआ तो भीम आर्मी विरोध करेगी, आंदोलन करेगी।

रावण नाम हटाने पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे वोटर आईकार्ड में चंद्रशेखर नाम दर्ज है। बाकी जिसको जो उचित लगे वह उस नाम से पुकार सकता है। सहारनपुर में एक युवती के यौन शोषण के आरोप में एफआईआर पर चंद्रशेखर ने कहा कि जो लोग मुझे खरीद नहीं सके और तोड़ नहीं सके वह फर्जी मुकदमें लगाकर फंसाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कुछ अपने ही समाज के लोगों पर ऐसी साजिश करने के आरोप लगाए।