Tuesday, September 7, 2021

रिश्वत की लूट में ग्राम प्रधान समेत 13 को हो गया AIDS, इस तरह हुआ खुलासा !

लखनऊ/गोरखपुर. मामला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर का है। यहां के भटहट ब्लाक में 13 लोगों को AIDS से बीमार पाया गया है। ये सभी एक ही मामले से जुड़े हुए हैं। सभी को रिश्वत लेने की बीमारी थी। रिश्वत लेने का मर्ज इस तरह बढ़ गया था कि दरिंदों ने खुद की जिंदगी को भी दाव पर लगा दिया।

AIDS

AIDS सभी को मार डालेगा

बताया जा रहा है कि घटना भ्रष्टाचार की गहरी जड़ों की पोल तो खोलती ही है, साथ ही वह यह भी बताती है कि किस तरह से एक महिला के साथ गैंगरेप होता है और वह चुपचाप पेट पालने के लालच में सहन करती है।

बताते हैं कि युवा यहां के एक गांव में युवा अवस्था में ही विधव हुई एक महिला को दबंगों ने इस तरह नोंचा कि वह खुद ही बीमार हो गए। विधवा राशन कार्ड बनवाना चाहती थी। तीन साल पहले वह अपनी फरियाद लेकर गांव के प्रधान के पास पहुंची थी। महिला के आगे पीछे कोई नहीं है, यह जानकर प्रधान उसके करीबी हो गए। प्रधान के पास उसे रोजगार सेवक लेकर पहुंचा था।

महिला को प्रधान ने सेक्रेटरी से मिलवाया। इसके बीच में नौ विचौलिये जो मिले वह भी महिला को राशन कार्ड बनवाने और पेंशन दिलाने का भरोसा देते रहे। इस दौरान महिला का शारीरिक शोषण होता रहा और दबंग एड्स के शिकार होते रहे।

इस तरह हुआ AIDS का खुलासा

बताते हैं कि तीन महीने पहले महिला बीमार हुई। चेकअप के दौरान प्रधान ने अपने झोलाछाप डाक्टर को दिखाया। इलाज का असर नहीं हुआ तो उसेने खून की जांच करवाई। पैथालोजी की रिपोर्ट में महिला को एचआईवी पॉजिटिव होने की जानकारी मिली।

महिला के एचआईवी पॉजिटिव होने की खबर लगते ही ग्राम प्रधान और अन्य 12 लोग सकते में आ गए। उनके होश उड़ गए और देखते ही देखते महिला का दोबारा चेकअप कराने का फैसला किया गया, लेकिन महिला की दोबारा गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में एड्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। यही नहीं एआरटी सेंटर ने भी जांच में इसकी पुष्टि कर दी।

अब सभी का इलाज चल रहा है

इसके बाद ग्राम प्रधान, रोजगार सेवक और अन्य 11 लोग एक-एक अपनी जांच करवाने मेडिकल कॉलेज के एआरटी सेंटर पहुंचे। जांच में सभी एड्स के रोगी पाए गए। अब सभी का इलाज चल रहा है।

महिला के पति की शादी के तीन वर्ष बाद ही मौत हो गई थी। बताते हैं कि वह मुंबई मं कहीं नौकरी करता था।

फोटोः प्रतीकात्मक। महिला एड्स बचाओ अभियान से जुड़ी हुई हैं।