Wednesday, September 8, 2021

जानिए, PM को उमा ने क्यों बताया 21वीं सदी का गांधी

ki2गांधीनगर/लखनऊ।। यूपी के ललितपुर से सांसद और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने मोदी को 12वीं सदी का गांधी बताया है। उन्होंने मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि जैसे 20वीं सदी में महात्मा गांधी भारत के ‘आईकॉन’ थे, वैसे ही 21वीं सदी मोदी भारत के ‘आईकॉन’ हैं।

केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने यह बयान गांधीनगर में आयोजित प्रवासी भारतीय दिवस समारोह में दिया है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि गांधी ने देश को आजादी दिलाई। वह आजादी के लड़ाइयों, अन्याय और असमानता के खिलाफ किए गए जन संघर्षों के प्रेरणाश्रोत थे। गांधी 20वीं सदी में वैश्विक स्तर पर भारत का चेहरा थे। वैसे ही 21वीं सदी में मोदी वैश्विक स्तर आईकॉन बनकर उभर रहे हैं।

हालांकि उमा भारती आज भले ही मोदी की तारीफ में कसीदे पढ़ रही हैं, लेकिन जब उन्होंने बीजेपी छोड़ी थी तो मोदी को काफी बुरा-भला भी कहा था। मध्य प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी उमा भारती बीजेपी की हिन्दुत्व छवि की फायर ब्रांड नेता मानी जाती हैं। 55 साल की उमा भारती ने कभी शादी नहीं की।

उमा भारती के खिलाफ जारी हुआ था गिरफ्तारी वारंट

उमा भारती युवावस्था में ही भारतीय जनता पार्टी से जुड़ गयीं थी। उन्होंने 1984 में पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ा, लेकिन हार गईं। 1989 के लोकसभा चुनाव में वह खजुराहो संसदीय क्षेत्र से सांसद चुनी गयीं और 1991, 1996, 1998 में यह सीट बरक़रार रखी।

वर्ष 1999 में वह भोपाल सीट से सांसद चुनी गयीं। वाजपेयी सरकार में वह मानव संसाधन विकास, पर्यटन, युवा मामले एवं खेल और अंत में कोयला और खदान जैसे विभिन्न राज्य स्तरीय और कैबिनेट स्तर के विभागों में कार्य किया।

2003 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में, उनके नेतृत्व में भाजपा ने तीन-चौथाई बहुमत प्राप्त किया और मुख्यमंत्री बनीं। अगस्त 2004 में उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, जब उनके खिलाफ 1984 के हुबली दंगों के संबंध में गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था।

फाइल फोटोः बाएं मोदी के साथ दाएं उमा भारती।