Thursday, September 9, 2021

सीएम अखिलेश यादव के इन फैसलों से सपा में दहशत

10522764_548919551932214_894693859914030817_nलखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन) ।। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इस समय फार्म में हैं। वह हर फैसले खुद कर रहे हैं। कई जिला पंचायत अध्यक्ष और जिले के प्रभारियों को बदला जा रहा है। इसी कड़ी में मैनपुरी के जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर पहले घोषित प्रत्याशी राहुल यादव का पत्ता कट गया। उनके स्थान पर संध्या यादव पत्नी अनुजेश प्रताप सिंह को प्रत्याशी घोषित किया गया है।

यही नहीं लखनऊ में भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद का प्रत्याशी बदल दिया गया। यहां पर रीता यादव को हटाकर माया यादव को सोमवार को टिकट दे दिया गया। यह फैसला सपा प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लिया है। इसके पहले लखनऊ से जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए माया यादव को प्रत्याशी घोषित किया गया था।

समाजवादी पार्टी में बागियों पर भी एक्शन जारी, बिजनौर की विधायक रुचि वीरा को पार्टी से बर्खास्त करते हुए, विधायक दल से भी रुचि वीरा को निलम्बित किया गया है। कुशीनगर के फाजिलनगर के विधानसभा अध्यक्ष विजय यादव तथा फाजिलनगर के पूर्व प्रमुख शिवनाथ यादव को पार्टी विरोधी कार्यों में लिप्त रहने के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। इसके साथ ही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप कुमार जायसवाल को पार्टी विरोधी कार्यो में लिप्त होने तथा अनुशासनहीन आचरण के लिए कारण बताओ नोटिस देते हुए तीन दिन के अन्दर स्थिति स्पष्ट करने की अपेक्षा की गई है कि इस प्रकार के पार्टी विरोधी आचरण के लिए इनको पार्टी से क्यों न निष्कासित कर दिया जाए।

गौरतलब है कि हाल ही में समाजवादी पार्टी से सुनील सिंह यादव ‘साजन’ और आनंद भदौरिया समेत तीन नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। यही नहीं गोरखपुर के भी कई नेताओं को पार्टी से बेदखल कर दिया गया है।

फोटोः मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।