Sunday, September 5, 2021

पूर्वांचल में शिक्षा को लेकर CM अखिलेश यादव का ये है बड़ा कदम

मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के विकास के लिए 18 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने 27 मेधावी छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल देकर किया सम्मानित

समाजवादी सरकार ने पूर्वांचल के छात्र-छात्राओं के भविष्य को देखते हुए इंजीनियरिंग कॉलेज को प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय का दिया दर्जाः सीएम

लखनऊ (डीडीसी न्यूज एजेंसी)।। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के विकास के लिए 18 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय को बेहतर बनाने के लिए जो भी प्रस्ताव आयेगा, उसे पूरा किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने पूर्वांचल के विद्यार्थियों के भविष्य को देखते हुए इस कॉलेज को प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय का दर्जा दिया है।

मुख्यमंत्री बुधवार को गोरखपुर में मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर 27 छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया। समाजवादी सरकार ने पूर्वांचल के छात्र-छात्राओं के भविष्य को देखते हुए, इसे आवासीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय का दर्जा दिया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय को और बेहतर बनाने के लिए जो भी प्रस्ताव अथवा मांग रखी जाएगी, उसको पूरा किया जाएगा। उन्होंने छात्र-छात्राओं का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि पढ़ाई में बहुत मेहनत करनी चाहिए, क्योंकि आगे आने वाला समय तकनीकी क्रान्ति का समय होगा। अखिलेश यादव ने विश्वविद्यालय में बुधवार को जिन परियोजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया, उसमें सात क्लास रूम, पांच सेमिनार रूम, एलायड विभाग में एक लैब, लाइब्रेरी में वातानुकूलन की व्यवस्था, तिलक भवन का छात्रावास, वर्चुअल क्लास रूम का लोकार्पण तथा एम0बी0ए0 भवन के प्रथम तल, छात्रावास के विस्तार एवं उच्चीकरण, केवीए सोलर प्लान्ट, कुलपति कैम्प एवं प्रशासनिक भवन के नये पोर्टिको एवं कॉन्फ्रेंस हॉल शामिल हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों के स्वस्थ बनाये रखने के लिए यदि जिम की व्यवस्था एवं साइकिल ट्रैक के लिए प्रस्ताव आयेगा तो राज्य सरकार इसके लिए सहयोग देगी। वर्तमान राज्य सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्नौज के दो गांव में सोलर प्लान्ट लगाकर निःशुल्क बिजली दी जा रही है। देश में सबसे तेज रफ्तार से लखनऊ में मेट्रो रेल का निर्माण कार्य कराया जा रहा है, जो शीघ्र ही पूर्ण हो जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई, ऊर्जा जैसी बुनियादी जरूरतों के लिए ठोस कदम उठाए हैं। विभिन्न विकास योजनाएं व कार्यक्रम तैयार कर उनका गम्भीरता से क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया है, जिसके परिणाम अब दिखने लगे हैं।

गोरखपुर में जरूरी है एम्स

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि पूर्वांचल के लिए गोरखपुर में एम्स की स्थापना जरूरी है। स्थानीय मेडिकल कालेज में कैंसर की बीमारी के इलाज की सुविधा के लिए कोबाल्ट मशीन तथा एमआरआई मशीन जनवरी महीने से काम करने लगेगी, जिससे मरीजों के बेहतर इलाज में और आसानी होगी।

फोटोः योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व अन्य।