Tuesday, September 7, 2021

MLC चुनावः सीपी का उतरेगा झंडा बैनर, जेपी हैं सपा प्रत्याशीः अखिलेश यादव

jp-yadav-with-ashok-yadav-gगोरखपुर के डीएम-कमिश्नर और एसएसपी को सपा मुख्यालय से आनन-फानन में भेजा गया फैक्स

मुख्यालय का आदेश न मानने पर कभी भी समाजवादी पार्टी से निलंबित हो सकते हैं सीपी चंद

शिवपाल यादव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री और मुलायम सिंह यादव से किया विचार विमर्श

झंडा बैनर उतारने के आदेश, जेपी यादव को ही बताया गया अधिकृत प्रत्याशी, सीपी चंद कर रहे थे मनमानीः शिवपाल

लखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन)।। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जेपी यादव को टिकट दिए जाने के बाद भी गोरखपुर से सीपी चंद के एमएलसी चुनाव लड़ने को गंभीरता से लिया है। उन्होंने आनन-फानन में गुरुवार को बैठकर कर सीपी चंद के झंडा बैनर उतारने के निर्देश जिलाधिकारी, एसएसपी और कमिश्नर को फैक्स भेजकर दिए हैं। सीपी चंद यदि बगावती रास्ता चुनते हैं, तो मुख्यमंत्री उन्हें पार्टी से निलंबित भी कर सकते हैं। इसके पहले शिवपाल यादव ने भी लखनऊ में साफ संकेत दे दिया कि जेपी चुनाव लड़ रहे हैं सीपी को चुनाव नहीं लड़ने के लिए कहा गया है। अंतिम रूप से पार्टी के प्रत्याशी पूर्व मंत्री जय प्रकाश (जेपी यादव) माने जाएंगे।a4d7b8ca-5528-472b-a935-f569e59e8175

गौरतलब है कि गोरखपुर के एमएलसी चुनाव में जेपी और सीपी आमने-सामने आ गए थे। दोनों ही अपने आपको सपा का अधिकृत उम्मीदवार बता रहे थे। इसको लेकर पिछले 48 घंटे से लखनऊ मुख्यालय में माहौल गर्म था। पार्टी के कई नेता कुछ भी नहीं बोलना चाह रहे थे, इसके बाद शिवपाल और मुख्यमंत्री को कमान संभालनी पड़ी। मुलायम सिंह यादव ने मामले को जल्द हल करने को कहा है।

उधर गोरखपुर के जिला अध्यक्ष, महासचिव और सचिव समेत अन्य नेताओं की बैठक भी गुरूवार को हुई। इसको लेकर 300 पदाधिकारियों ने हस्ताक्षर कर पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमएलसी एसआरएस यादव को फैक्स किया है। इसमें मांग की गई है कि पार्टी की गरिमा के खिलाफ काम करने की वजह से सीपी चंद को पार्टी से निलंबित किया जाए। इस फैक्स को लेकर मुख्यमंत्री और शिवपाल यादव को भी एसआरएस यादव ने अवगत करवा दिया है।

सीपी ने बोला था झूठ

दैनिक दुनिया डॉट कॉम ने जब बुधवार को सीपी चंद से बात की तो उन्होंने कहा था कि पार्टी की ओर से कोई फोन नहीं आया, टिकट बदले जाने को लेकर उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उनका यह भी कहना था कि उन्हें ही चुनाव लड़ने के लिए कहा गया है, जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमएलसी एसआरएस यादव और प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि उन्हें फोन गया था। पार्टी का उम्मीदवार जेपी यादव ही हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सीपी चंद ने मीडिया को भी गुमराह करने की कोशिश की।

दैनिक दुनिया डॉट कॉम ने सबसे पहले जेपी के चुनाव लड़ने की खबर छापी थी। बाद में जेपी और सीपी के मुद्दों को लेकर भी दैनिक दुनिया डॉट कॉम ने ही खबर सबसे पहले प्रकाशित की। इसे देखने के लिए यहां क्लिक करिए। जेपी यादव से संबंधित प्रकाशित अन्य खबर के लिए यहां क्लिक करिए।

फोटोः पूर्व मंत्री और एमएलसी प्रत्याशी जेपी यादव के साथ समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व गोरखपुर के जिला सचिव अशोक यादव।