Saturday, September 4, 2021

सीएम अखिलेश यादव चूके, तो अपर्णा यादव ने लूटा मंच

aparna-yadavलखनऊ ।। सीएम अखिलेश यादव के फिल्मी अंदाज में अंबेडकर जयंती मनाने को लेकर जहां, अंबेडकर महासभा में जुटे लोग निराश हुए वहीं, मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने मंच लूट लिया। अपर्णा यादव ने केक काटकर अंबेडकर का 125वां जन्मदिन मनाया। हालांकि वह मुख्यमंत्री के जाने के बाद कार्यक्रम में आई थीं। अपर्णा यादव ने अंबेडकर महासभा में काफी समय भी दिया। 

मौका था अंबेडकर महासभा में बाबा साहेब की जयंती पर कार्यक्रम में शामिल होने का। कार्यक्रम सुबह नौ बजे से ही था। सुबह सबसे पहले राज्यपाल राम नाईक आए और अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पांच वरिष्ठ समाजसेवी और पत्रकारों को अंबेडकर रत्न से सम्मानित किया। इसके बाद राज्यपाल को मंच पर बोलने के लिए बुलाया गया। इस दौरान वह बोल ही रहे थे कि मुख्यमंत्री का काफिला आया। मुख्यमंत्री का राज्यपाल महोदय ने प्रोटोकाल तोड़ते हुए मंच से स्वागत भी किया और उनके अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने तक अपना भाषण रोक दिया। इसके बाद जब सीएम माल्यार्पण कर वापस आए, तो राज्यपाल ने यह कहते हुए भाषण खत्म किया कि उन्हें उप राष्ट्रपति के कार्यक्रम में जाना है। सीएम ने राज्यपाल के भाषण से खुद को जोड़ते हुए मंच पर ही आपसी वार्तालाप में कहा कि राज्यपाल महोदय ने जो कहा है वह उससे सहमत है। जबकि हकीकत तो यह थी कि जब राज्यपाल मंच पर थे, तो सीएम का काफिला रास्ते में था। यानी राज्यपाल महोदय का भाषण सीएम सुन ही नहीं पाए थे। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मंच से उतर कर चलते बने। लोग यह देखकर हक्का- बक्का रह गए, कि जिस मुख्यमंत्री को सुनने के लिए वह अंबेडकर महासभा में एक घंटे से बैठे हैं, उनके पास अंबेडकर महासभा में भाषण देने के लिए समय ही नहीं है।

मुख्यमंत्री का अंबेडकर महासभा में भाषण न देना इस लिए काफी गंभीर मसला है, क्योंकि जहां लंदन, अमेरिका, रूस और जर्मनी समेत करीब एक दर्जन देशों के सैकड़ों शहरों में अंबेडकर की जयंती मनाई जा रही है। उनकी उपलब्धियों को याद किया जा रहा है। उनसे प्रेरणा लेने की अपील की जा रही है, वहीं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास अंबेडकर के अनुयायियों के लिए 10 मिनट का समय तक नहीं है। दलित चेतना मंच के पदाधिकारी इससे काफी नाराज हैं। उन्हें इसे सीएम की अदूरदर्शिता करार दिया है।

फोटोः अंबेडकर महासभा के कार्यक्रम में माल्यार्पण करते हुए सीएम और केक काटती हुई अपर्णा यादव।