Tuesday, September 7, 2021

मुंबई पहुंचे सीएम योगी, यूपी में निवेश के लिये उद्योगपतियों को देंगे न्योता

उत्तर प्रदेश.  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इन्वेस्टर्स समिट के सिलसिले में शुक्रवार को मुंबई में अग्रणी उद्योगपतियों से अलग अलग मुलाकात करेंगे और यूपी में निवेश करने का न्योता देंगे। प्रदेश सरकार अगले साल लखनऊ में 21 व 22 फरवरी को इन्वेस्टर्स समिट-2018’ का आयोजन कर रही है।

 

योगी आदित्यनाथ

समिट को सफल बनाने व प्रदेश में औद्योगिक निवेश को आकर्षित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में 22 दिसम्बर, मुम्बई के नरीमन प्वाइण्ट स्थित होटल ट्रायडेण्ट में रोड शो का आयोजन किया जा रहा है।

इस रोड शो में मुंबई के दिग्गज उद्योगपति तथा बड़े औद्योगिक घराने भाग लेंगे। उत्तर प्रदेश में उद्योग लगाने व युवाओं को बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार विशेष अभियान चला रही है।

राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में उद्योगों की स्थापना के लिए वातावरण का सृजन किया जा रहा है। प्रदेश में औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति, सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्ट-अप नीति, एग्रो और खाद्य प्रसंस्करण के सम्बन्ध में नीतियां लागू की गई हैं।

 

यह भी पढ़े. 2018 में शुरु हो जायेगा राम मंदिर का निर्माण, योगी भी..!

राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी इसमें भाग लेंगे

ये उद्योगपति शामिल होंगे : रिलायन्स इण्डस्ट्रीज के मुकेश अंबानी, टाटा ट्रस्ट्स् के रतन टाटा, टाटा ग्रुप एन चंद्रशेखरन, महेन्द्रा एण्ड महेन्द्रा ग्रुप के पवन गोयनका, एस्सेल ग्रुप के सुभाष चंद्रा, हिन्दुजा ग्रुप के अशोक हिन्दुजा, एचडीएफसी के दीपक पारेख, बजाज इलेक्ट्रिकल्स के शेखर बजाज, अर¨वद ग्रुप के अरविन्द लालभाई, टारेण्ट ग्रुप के सुधीर मेहता, अजंता फार्मा के मधुसूदन अग्रवाल, गीतांजलि ग्रुप के मेहुल चोकसी आदि शामिल हैं।

इस रोड शो में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना , मुख्य सचिव राजीव कुमार, औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास आयुक्त अनूप चन्द्र पाण्डेय सहित राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी इसमें भाग लेंगे।

प्रदेश सरकार ने आगरा में 13.15 करोड़ रुपये की लागत से टेस्टिंग लैब तथा डिजायनिंग इंस्टीट्यूट बनाने का निर्णय लिया गया है। असल में, बने बनाये र्ढे पर चल रहे आगरा के चमड़ा उद्योग को वैश्विक स्तर पर गति देने के लिए प्रदेश सरकार खास कदम उठाने जा रही है।

जिससे आने वाले दिनों में आगरा के चर्म उत्पाद फैशन से कदम ताल और विश्व बाजार के साथ होड़ करते दिखेंगे। आगरा के चर्म उद्योग की गहराई से पड़ताल करने के बाद यह तथ्य सामने आया है कि हम अभी वैश्विक प्रतिस्पर्धा में काफी पीछे हैं।

चमड़े के उत्पाद को मौजूदा देशी-विदेशी फैशन के मुताबिक बनाने के लिए आगरा में टे¨स्टग लैब तथा डिजायनिंग इंस्टीट्यूट बनाया जाएगा।

 

प्रदेश में 15 नए एयरपोर्ट बन रहे हैं

प्रदेश सरकार ने मुंबई में बसे उत्तर भारतीय निवेशकों को लुभाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। मुंबई रोड शो के एक रोज पहले गुरुवार को उत्तर प्रदेश डेवलेपमेंट फोरम का सम्मेलन हुआ।

इसमें प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि हमारे काम और नीतियों के नाते उत्तर प्रदेश के प्रति लोगो का नजरिया बदला है। निवेशकों की सुरक्षा और सम्मान की गारंटी सरकार देगी।

औद्योगिक विकास आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय ने कहा कि प्रवासी निवेशकों की जो भी दिक्कतें हैं सरकार उसे दूर करेगी। प्रदेश में 15 नए एयरपोर्ट बन रहे हैं।

पहली बार कोई मुख्यमंत्री लोगों से निवेश के लिए संवाद

सरकार सिंगल विंडो और इज ऑफ डूइंग बिजनेस पर फोकस कर रही है। यूपीडीएफ के अध्यक्ष ओम प्रकाश तिवारी ने कहा की पिछले पच्चीस सालों में पहली बार मुंबई में यह महसूस हो रहा है कि यूपी में उद्योग के लिए माहौल बना है।

बदले माहौल की महक यहां महसूस की जा रही है। महासचिव सीए पंकज जायसवाल ने कहा कि पहली बार कोई मुख्यमंत्री सामने से आकर लोगों से निवेश के लिए संवाद कर रहें है।

ये लोग उपस्थित थे

कार्यक्रम के आयोजन में लखनऊ एसोचैम निवेश संवर्धन विभाग के चेयरमैन शैलेन्द्र श्रीवास्तव का भी सहयोग रहा। सिद्धार्थ श्रीवास्तव और अनिल पांडेय प्रदेश में निवेश के लिए उद्योगपतियों से वन टू वन बातचीत कर रहे हैं। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी, विशेष सचिव अमित सिंह, सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार आदि उपस्थित थे।

प्रमुख उद्योगपतियों में मुंबई से अरविन्द राही, सुरेश शर्मा, संजय गुप्ता, एल आर यादव, दिनेश चन्द्र उपाध्याय, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, कृष्ण मोहन तिवारी, पुणो से एल आर यादव वापी से आर एन तिवारी, कृष्ण मोहन श्रीवास्तव, कपिल तिवारी, आदि उपस्थित थे।