Thursday, September 9, 2021

जानिए, कांग्रेसी नेताओं ने क्यों और किसको लिखा खून से खत

b884c46f-9bcb-46b6-9b49-e8e747cba6c5इलाहाबाद (डीडीसी न्यूज एजेंसी)।। हेराल्ड केस को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ता केंद्र सरकार को घेरने में जुट गए हैं। सोमवार को इलाहाबाद के सुभाष प्रतिमा के सामने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और खून से खत लिखकर लोकसभा अध्यक्ष से राजनीतिक द्वेष से केंद्र सरकार के काम न करने की अपील की है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हसीब अहमद की अगुवाई में सैकड़ों पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने आगे भी आंदोलन की चेतावनी दी है। कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार पर सोनिया और राहुल को परेशान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए।

नेशनल हेराल्ड मामले को लेकर संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस के सदस्यों ने सरकार पर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया था। सरकार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर आरोप लगाया कि वे सदन की कार्यवाही में बाधा डाल रही हैं और इसकी वजह भी बताने को तैयार नहीं हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस के इस आरोप को गलत बताया कि सरकार राजनीतिक प्रतिशोध की भावना से काम कर रही है। उधर हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी को अदालती राहत नहीं मिल पाई है। अब उन्हें 19 दिसंबर को अदालत में पेश होना पड़ेगा। कांग्रेस और सत्तापक्ष, दोनों ओर से हालांकि नेशनल हेराल्ड मामले का सीधा उल्लेख नहीं किया गया।

सदन में भी हंगामा

विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि सप्ताह भर पहले यहां संविधान पर चर्चा में इसके प्रति फिर से प्रतिबद्धता जताई गई, लेकिन उन्हें हालात में कोई बदलाव नहीं दिख रहा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह का वातावरण बन रहा है, ऐसा लगता है कि दो तरह के कानून का पालन हो रहा है। आजाद ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ही नहीं बल्कि पूरे विपक्ष को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों और एक केंद्रीय मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की विपक्ष की मांग के कारण पिछला सत्र नहीं चला।

फोटोः इलाहाबाद के सुभाष प्रतिमा के सामने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने हसीब सिद्धिकी की अगुवाई में प्रदर्शन किया और खून से खत लिखकर लोकसभा अध्यक्ष से राजनीतिक द्वेष से केंद्र सरकार के काम न करने की अपील की है।