Sunday, September 5, 2021

गोरखपुर में क्यों नहीं रुक रहे अपराध, 10 दिन में 7 लोगों से मांगी गई रंगदारी

गोरखपुर ।। 10 दिन में 7 लोगों से मांगी गई रंगदारीद दिन में दो डॉक्टर और दो सर्राफ सहित सात लोगों से रंगदारी मांगी जा चुकी है। सूचना है कि कुछ और डॉक्टरों से रंगदारी मांगी गई है, लेकिन वे सामने नहीं आए हैं। वहीं बड़हलगंज के एक डॉक्टर ने तो दस लाख की रंगदारी पहुंचा भी दी है। अब तक जो लोग सामने आए उसमें शहर के दो डॉक्टर, बेलीपार के एक पूर्व प्रधान और एक व्यापारी, गोला के सर्राफ, झंगहा के भाजपा नेता तथा अब उरुवा के सर्राफ हैं।

शहर के दो डॉक्टरों से रंगदारी मांगे जाने के मामले की पुलिस अभी जांच ही कर रही है कि अब उरुवा के सर्राफ अशोक उर्फ कल्ली से पांच लाख की रंगदारी मांगे जाने की खबर आ रही है। इसने पुलिस के इकबाल पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

सर्राफ को दो दिन से रंगदारी के लिए फोन करने वाले बदमाश ने नाम तो नहीं बताया है, लेकिन रकम न देने पर जान से मारने की धमकी दी है। सर्राफ को सुरक्षा मुहैया करा कर उरुवा पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की टीम जांच में जुट गई है। उरुवा क्षेत्र के धुरियापार निवासी अशोक की कस्बे में रवि ज्वैलर्स के नाम दुकान है। गुरुवार शाम अशोक के मोबाइल पर इंटरनेट से रंगदारी की पहली कॉल आई।

फोन करने वाले ने दो घंटे में पांच लाख रुपये तैयार रखने को कहा। इसके बाद फोन कट गया फिर थोड़ी देर बाद 7569668973 से दोबारा कॉल आई और रंगदारी नहीं देने पर हत्या की धमकी दी। इस पर सर्राफ ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। मौके पर पहुंची डायल 100 की पुलिस सर्राफ को थाने ले गई मगर पुलिस ने तब मामले को हल्के में लिया और फिर अगले दिन बुलाया।

सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को फिर कॉल आई जिसके बाद सर्राफ ने तहरीर दी। लगातार कॉल आने के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने सर्राफ को सुरक्षा मुहैया करा दी और नम्बर की जांच में क्राइम ब्रांच की टीम लग गई।

सर्राफ से रंगदारी मांगने में बदमाशों ने इंटरनेट कॉलिंग का इस्तेमाल किया है। इंटरनेट कॉलिंग को ट्रेस करना इतना आसान नहीं होता है। इसका कोड विदेश से जनरेट होता है। वहां से जानकारी हासिल करने में काफी समय लग जाता है। शहर में पिछले दिनों इंटरनेट कॉलिंग से कई बार धमकी दी गई थी, लेकिन आज तक पुलिस उसे ट्रेस नहीं कर पाई।