Wednesday, September 8, 2021

सब्जी की दुकान पर बिक रही थी हसीना, पुलिस को आया पसीना

लखनऊ/बुलंदशहर।। जिन्दगी भले ही अनमोल है, लेकिन सौदागर इसकी कीमत लगा ही देते हैं। यही वजह है कि मौत भले ही नहीं बिकती, लेकिन जिन्दगी हमेशा बेची जाती है। बुलंदशहर के नरसैना में बिहार से लाई गई एक जवान युवती हसीना (बदला हुआ नाम) की सरेआम नीलामी की जा रही थी, वह भी किसी घर या रेस्टोरेंट में नहीं सब्जी की दुकान पर।

हसीना की नीलामी भी हो गई थी, वह चालीस हजार रुपए में बिक गई थी। इतने में ही बेचने वाले को लालच आ गई। वह और पैसे की चाह में दूसरी बोली भी लगाने लगा। इतने में ही एक बच्चे ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने वहां पहुंचकर हसीना और उसे बेचने वाले को हिरासत में ले लिया। हालांकि खरीदार फरार हो गये। बोली लगाने वाले भी वहां से खिसक लिए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंतदेव तिवारी के मुताबिक, बुधवार को नरसैना क्षेत्र के भड़काउ गांव में हापुड़ के दौलतपुरकला गांव का रहने वाला राजेश्वर बिहार की एक युवती हसीना को लेकर आया। वह गांव में भागमल की सब्जी की दुकान पर गांव वालों को इकट्ठा कर हसीना की सरेआम बोली लगवाने लगा। आखिरी बोली 40 हजार रुपए में छूटने पर वह व्यक्ति अभी और ऊंची बोली का इंतजार कर रहा था। तभी गांव के एक बच्चे ने पुलिस को सूचना दे दी। थानाध्यक्ष तुरंत दल-बल साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस को देख खरीदारी करने आए सभी व्यक्ति भाग खड़े हुए। इस प्रकार हसीना बिकने से बच गई। पुलिस सब्जी विक्रेता को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। राजेश्वर की तलाश सरगर्मी से जारी है।

फोटोः फाइल।