Wednesday, September 1, 2021

हीरा व्यापारी की गोली मारकर लूटे पौने 2 करोड़ के आभूषण !

जौनपुर. बुधवार की रात करीब साढ़े दस बजे हीरा के व्यवसायी को गोली मारकर बदमाशों ने पौने दो करोड़ का हीरा व प्लेटीनम लूट लिया। गोली व्यापारी के हाथ में लगी है। बदमाशों के जाने के बाद परिवार के लोगों ने लगभग 11:30 बजे जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां से रात में ही ट्रामा सेंटर वाराणसी भेज दिया गया।

हीरा व्यापारी

एसपी दिनेश पाल सिंह के मुताबिक घटना के अनवारण के लिए टीमें लगा दी गई है। उधर जब गुरुवार की सुबह घटना की जानकारी आईजी व एडीजी वाराणसी को हुई तो दोनों अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। व्यापारी की गाड़ी का निरीक्षण करने के बाद मातहतों से पूछताछ किया।

सुल्तानपुर गांव निवासी हीरा व्यापारी नागेश दुबे हीरे व प्लेटिनम के व्यापारी है। रायबरेली में मानिकचन्द्र ज्वेलर्स के नाम से बड़ी दुकान है। मुंबई से भी काफी मात्रा में डायमण्ड व अन्य आभूषण लाकर जौनपुर, वाराणसी, सुल्तानपुर, रायबरेली में सप्लाई करते है।

पीड़ित के मुताबिक वह बुधवार को एक करोड़ सत्तर लाख का हीरा, प्लेटिनम व अन्य आभूषण लेकर दुकानदारों को देने के लिए रायबरेली से निकले थे। नीले रंग की अपनी कार वह खुद ही चला रहे थे।

वाराणसी में पहुंचने के बाद चेतमणी ज्वेलर्स के यहां चार लाख का माल दिया। इसके बाद जौनपुर में आ गया। यहा गहना कोठी को तीन लाख का माल देने के बाद छंगनलाल सेठ को भी माल देना था लेकिन देर होने के कारण वह घर के लिए चल दिए।

बाइक सवार बदमाशों ने बुधवार की देर रात शिवगुलामगंज (सुकलामगंज) बाजार से आगे बसालतपुर के पास सुनसान स्थान देख पीछे से उनकी कार में टक्कर मार दिया। नागेश ने अपनी कार रोककर गाड़ी अंदर से लाक कर लिया। बदमाशों ने 315 बोर के तमंचे से पहले तो हवा में गोली चलायी।

इसके बाद बायी ओर जाकर ईट से शीशा तोड़ दिया और आभूषण भरा बैग निकाल लिया। बैग निकालने के बाद एक गोली नागेश को मार दिया। गोली नागेश के बांह में जा लगी। इसके बाद बदमाश भाग गए। नागेश के पास लोडेड रिवाल्वर थी लेकिन उसका प्रयोग उन्होंने नहीं किया।

बदमाशों के जाने के बाद पिता मानिक चंद दुबे को फोन किया और कार से बाहर निकलकर शोर मचाने लगे। आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। सौ नम्बर पर फोन कर पुलिस को सूचना दिया। पुलिस आयी और करीब साढ़े ग्यारह बजे रात जिला अस्पताल लेकर पहुंची। प्राथमिक इलाज के बाद ट्रामा सेंटर वाराणसी भेज दिया गया।

गुरुवार की सुबह मौके पर आईजी विजय सिंह मीणा, एडीजी पीबी रामा शास्त्री, एसपी दिनेश पाल सिंह, एएसपी संजय राय, सीओ विनय द्विवेदी ने घटना स्थल शिवगुलामगंज से उत्तर बसारतपुर रोड पर जाकर निरीक्षण किया। मौके पर देखा गया कि एक ईट उखाड़ी गयी थी। कारतूस का दो खोखा भी मिला। मीडिया को दूर कर दिया गया।

आईजी ने मातहतों संग जो बात की उसके मुताबिक व्यापारी भाग सकता था लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। लोडेड रिवाल्वर का प्रयोग नहीं किया। इन सब चीजों के चलते घटना संदिग्ध लग रही है। यहा से अधिकारी बक्शा थाने पर भी गए। एक घंटे तक पूछताछ कर वापस चले गए।

एसपी की माने तो टीमें गठित कर दी गयी है। व्यापारी भी वाराणसी से इलाज कराकर घर के लिए निकल दिया था। अभी पुलिस को तहरीर नहीं मिली है कि कितने की लूट हुई है।