Wednesday, September 1, 2021

इंजीनियरिंग कॉलेज की छात्राएं सीख रही हैं सेल्फ डिफेंस

गोरखपुर के मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलाजी में सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेती हुई छात्राएं।

लखनऊ ।। खुद की सुरक्षा को लेकर वीमेन सेल्फ डिफेंस एक अचूक हथियार साबित हो रहा है। स्कूल और कॉलेज में ही नहीं, बल्कि तकनीकी शिक्षण संस्थानों की छात्राओं में भी इसको लेकर अब क्रेज काफी है। यही वजह है कि गाजियाबाद से लेकर गोरखपुर तक के स्कूलों, कॉलेजों की छात्राएं इस प्रशिक्षण की बारीकियों को समझ रही हैं। गोरखपुर के मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में सैकड़ों छात्राओं ने बुधवार को सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण लिया। यह प्रशिक्षण पांच दिन तक चलेगा। प्रशिक्षण को लेकर विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. ओंकार सिंह ने खुद भी प्रशिक्षण लिया और इसे लोगों के लिए काफी उपयोगी बताया है। यह प्रशिक्षण सुबह आठ बजे से दिया जा रहा है।

छात्राओं को प्रशिक्षण दे रहे अभिषेक यादव अभी कहते हैं कि यदि छात्राएं इसे अपने हॉस्टल और स्कूल के कैंपस में भी हर दिन 10 से 20 मिनट तक भी अभ्यास करती हैं, तो वह बदमाशों और मनचलों का आसानी से मुकाबला कर सकती हैं। इसके लिए घर या हॉस्टल से दूर जान की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही इसका अभ्यास आपस में सहपाठियों और मित्रों के साथ मिलकर भी किया जा सकता है। छात्राएं ज्यादातर निहत्थी होती हैं, इसको लेकर भी यह तकनीकी अपने आप में काफी कारगर है, क्योंकि यह तकनीक खुद ही हथियार बन जाती है।

गांव-देहात में भी बदल रहा नजरिया

सेल्फ डिफेंस को लेकर शहर ही नहीं, बल्कि गांव देहात में भी अब लोगों का नजरिया बदलने लगा है। हर समय इस्तेमाल करने की तकनीक और तरीकों की वजह से इसे अब सुरक्षा को लेकर हर कोई सीखना चाहता है। हाल ही में यशभारती सम्मान से सम्मानित अभिषेक यादव ने कुशीनगर के खोटही गांव कप्तानगंज में हाल तीन स्कूलों में कुल मिलाकर 600 छात्राओं को एक साथ ट्रेनिंग दी है। यही नहीं, लखनऊ के काकोरी में तो सास और बहुओं ने भी सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग ली। यूपी पुलिस के करीब एक लाख से अधिक जवान भी अभी तक सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण ले चुके हैं।

15
सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देते हुए स्पेशल कमांडो ट्रेनर अभिषेक यादव अभी।

बॉलीबुड की फिल्म अभिनेत्री पाखी हेगड़े का कहना है कि वह यूपी में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर काफी गंभीर हैं। वह यूपी में पूर्वांचल के कई जिलों चल रहे लड़कियों के सेल्फ डिफेंस को प्रमोट करने के लिए खुद ही स्पेशल कमांडो की ट्रेनिंग लेंगी। जल्द ही देवरिया और महराजगंज में ट्रेनिंग दी जाएगी। इसको लेकर उन्होंने लखनऊ में यशभारती पुरस्कार से सम्मानित अभिषेक यादव से मिलकर रोडमैंप तैयार किया है।

पाखी का कहना है कि वह चाहती है कि देश के किसी कोने में महिला उत्पीड़न न हो। यूपी में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अच्छा काम किया है। वह 1090 वीमेन पॉवर लाइन और महिला सम्मान प्रकोष्ठ की अहमियत को समझ रहे हैं। यही वजह है कि इस दिशा में बेहतर काम हो रहा है, लेकिन इसके लिए सेल्फ डिफेंस को भी अभियान के तौर पर पूरे प्रदेश और देश में चलाया जाना चाहिए।

फोटोः  गोरखपुर के मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देते हुए यशभारती पुरस्कार से सम्मानित अभिषेक यादव अभी।