Wednesday, September 8, 2021

Bigg Boss में धूम मचा सकता है ये Special Commando ट्रेनर

IMG-20150905-WA0065अभिषेक यादव अभी यूपी के प्रतिष्ठित पुरस्कार यशभारती पाने वालों में सबसे कम उम्र के भी हैं। मात्र 22 साल में ही उनके कौशल को देखते हुए यह पुरस्कार दे दिया गया था।

लखनऊ ।। अभिषेक यादव अभी को देश में निःशुल्क कमांडो ट्रेनिंग का जनक माना जाता है। वह Bigg Boss Session-9 में धूममचा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक उनका नाम काफी आगे है। गोरखपुर से ताल्लुक रखने वाले अभिषेक यदि Bigg Boss में जाते हैं तो स्पेशल कमांडो ट्रेनिंग का आकर्षण भी Bigg Boss में देखने को मिल सकता है। अभिषेक यादव अभी ने सबसे पहले यह घोषणा की थी कि किसी भी संगठन या महिलाओं से ट्रेनिंग के नाम पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। वह आज भी यह ट्रेनिंग पूरी तरीके से निःशुल्क करवाते हैं।

गोरखपुर के मोहनापुर गांव में पांच जुलाई 1991 को जन्मे अभिषेक यादव अभी बचपन से ही होनहार थे। वह पांच भाइयों और एक बहन में दूसरे नंबर पर हैं। उनके पिता किसान हैं और माता आदर्श गृहणी। अभिषेक बताते हैं कि उनकी प्राथमिक शिक्षा गोरखपुर के श्रीलाल बहादुर शास्त्री विद्यालय, मोहनापुर में हुई। इसके बाद उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र डिग्री कॉलेज से बीए किया। बाद में उन्होंने एमएससी आईटी किया। मार्शल आर्ट की ओर उनका बचपन से काफी झुकाव था। जब वह कुछ करने के लिए सीख रहे थे तभी, उन्हें माता-पिता ने इस टेक्निक को छोड़ देने और रास्ता बदल लेने के लिए कहा था, लेकिन वह डटे रहे। ट्रेनिंग की फीस के लिए उन्हें पैसे नहीं मिलते थे। इसके लिए उन्हें अलग से पैसों का इंतजाम करना पड़ता था, पॉकेट खर्च को बचाकर ट्रेनिंग की फीस देनी पड़ती थी। घर से ट्रेनिंग के नाम पर कोई मदद नहीं मिलती थी, उनके पिता जी ने कहा था कि यह खेल खतरनाक है इसे छोड़ दो।

ट्रेनर ने कहा फीस नहीं तो ट्रेनिंग नहीं

11695829_851673681585807_5577856688060602124_nअभिषेक बताते हैं कि एक समय ऐसा भी आया की ट्रेनर ने फीस नहीं देने पर उन्हें ट्रेनिंग देने से मना कर दिया। कोच ने कहा था फीस नहीं दोगे तो तुम्हें सिखाएंगे नहीं। बाद में उन्होंने पैसे जुटाकर फीस चुकाई। अभिषेक कहते हैं कि इस ट्रेनिंग के दौरान सबसे बड़ा परिवर्तन तब आया, जब दो साल बाद वहीं पर उन्हें ट्रेनिंग ले रही एक टीम को खुद सिखाने की उन्हें जिम्मेदारी मिल गई। वह उस समय आठवीं में पढ़ रहे थे। इसके बाद अभिषेक का मनोबल बढ़ता गया। सिखाने के साथ ही उनकी खुद की प्रेक्टिस जारी रही। घर वालों से छुपकर मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग लेने और देने का सिलसिला चलता रहा। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने नौ नेशनल कराटे गोल्ट मेडल जीते। अकीजो, ताईक्वाडो, बाक्सिंग को मिलाकर इसे एक नई टेक्निक नाम दिया स्पेशल कमांडो ट्रेनिंग। आज इस टेक्निक की दुनिया कायल है। अभिषेक यादव अभी को इस टेक्निक का जनक माना जाता है। वह यूपी से सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार यशभारती पाने वालों में सबसे कम उम्र के भी है। मात्र 22 साल में ही अभिषेक की झोली में यशभारती आ गया था।

नोटः अभिषेक यादव अभी Bigg Boss में Entry करेंगे, यह खबर इंडिया ही नहीं अमेरिका में भी गूंज रही है। एक प्रतिष्ठित अमेरिकन वेबसाइट ने इसे प्रमुखता से छापा है। इसे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।